गोरखपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण को लेकर जिला अस्पताल प्रबंधन सतर्क है। थर्मल स्क्रीनिंग तो सभी मरीजों की कराई जा रही है। लेकिन जिन्हें बुखार या सर्दी-जुकाम है, उनकी अनिवार्य तौर पर कोरोना की एंटीजन जांच कराई जा रही है। राहत की बात यह है कि पिछले एक सप्ताह में एक भी कोरोना संक्रमित नहीं मिला है।

प्रतिदिन आ रहे 22 से 60 बुखार के रोगी

कोरोना के कदम भले थम गए हैं लेकिन अस्पताल प्रबंधन पूरी सतर्कता बरत रहा है। रोज मेडिसिन के ओपीडी में लगभग चार सौ मरीज पहुंच रहे हैं। इसमें 22 से 60 बुखार, सर्दी-जुकाम व खांसी की शिकायत लेकर आ रहे हैं। इन्हें देखने के पूर्व डाक्टर इनके पर्चे पर कोविड जांच लिख रहे हैं। ट्रायज एरिया में उनकी जांच की जा रही है। इसके बाद ही उन्हें डाक्टर देख रहे हैं।

प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. एसी श्रीवास्तव ने बताया कि मरीजों को सबसे पहले ट्रायज एरिया में भेजा जा रहा है। वहां उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। यदि शरीर का तापमान सामान्य से बढ़ा हुआ है तो उनकी तत्काल वहीं एंटीजन जांच की जा रही है। जिन मरीजों के शरीर का तापमान सामान्य है। उन्हें पर्चा काउंटर पर भेजा रहा है। यदि किसी ने बताया कि सिर गर्म है या बुखार जैसा महसूस हो रहा है तो उनकी कोरोना जांच कराई जा रही है। एक सप्ताह से कोई संक्रमित नहीं मिला है।

वायरल फीवर है तो निगेटिव आएगी रिपोर्ट

जिला अस्पताल के फिजिशियन डा. बीके सुमन ने बताया कि यदि वायरल फीवर है तो कोरोना की जांच रिपोर्ट निगेटिव आएगी। क्योंकि एंटीजन कोरोना वायरस को ही पकड़ती है। यदि कोरोना वायरस है तभी रिपोर्ट पाजिटिव आएगी। दोनों में लक्षण एक समान होते हैं। इसलिए इन लक्षणों वाले सभी मरीजों की कोरोना जांच कराई जा रही है।

एक सप्ताह में मेडिसिन ओपीडी में आए मरीज

13 जुलाई- 454

14- 402

15- 428

16- 404

17- 196

19- 491

20- 382

एक सप्ताह में हुई कोरोना जांच

तिथि जांच पाजिटिव

13 जुलाई 62 00

14 46 00

15 47 00

16 44 00

17 22 00

19 35 00

20 40 00

Edited By: Pradeep Srivastava