गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर-बस्ती मंडल में कोरोना का कहर तेज होता जा रहा है। रविवार को जहां 23 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई, वहीं गोरखपुर में लगातार दूसरे दिन एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई। रविवार को सिद्धार्थनगर में सर्वाधिक सात, देवरिया में पांच और बस्ती जिले में चार नए लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है, जबकि संत कबीरनगर, महराजगंज व कुशीनगर में दो-दो नए मरीज मिले हैं।

गोरखपुर में एक की मौत

गोरखपुर जिले के चिलुआताल क्षेत्र के नवापार गांव के निवासी 60 वर्षीय व्यक्ति बीते 13 मई को मुंबई से घर लौटे। वह बुखार व सर्दी-खांसी से पीडि़त थे। उन्हें होम क्वारंटाइन कराया गया था। रविवार की सुबह हालत बिगडऩे पर मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद उनका नमूना जांच के लिए भेजा गया। रिपोर्ट में उनके पाजिटिव होने की पुष्टि हुई है।

सिद्धार्थनगर के जिन सात लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें तीन शोहरतगढ़, तीन बांसी व एक इटवा तहसील क्षेत्र के निवासी हैं। यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 44 हो गई है। इनमें 17 ठीक होकर घर जा चुके हैं। 

देवरिया में पांच  नए केस

देवरिया में पांच कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। यहां संक्रमितों की संख्या 15 हो गई है, जिसमें 13 सक्रिय मामले हैं। दो लोगों को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई है। बस्ती जिले में चार और प्रवासी मजदूरों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है। महराजगंज में दो और कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 18 हो गई है। संत कबीरनगर में मुंबई से ट्रक से आए दो और लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 42 हो गई है। कुशीनगर में दो और मरीजों की रविवार की सुबह आई जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या पांच हो गई है।

गोरखपुर का चौथा हॉट स्पॉट बना चिलुआताल, पूरी तरह सील

कोरोना के मरीजों की संख्या के साथ ही शहरी क्षेत्र में हॉट स्पॉट की संख्या भी बढ़ती जा रही है। शनिवार को चिलुआताल के एक बुजुर्ग की कोरोना से मौत के बाद चिलुआताल को हॉट स्पॉट घोषित करते हुए तीन किमी दायरे को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। अब शहरी क्षेत्र में कुल चार हॉट स्पॉट हो गए हैं। हॉट स्पॉट होने के कारण इस इलाके के लिए जारी सभी पास निरस्त कर दिए गए हैं। सभी प्रवेश मार्ग पर बैरीकेङ्क्षडग करा दी गई है। प्रतिबंधित क्षेत्र में रहने वाला कोई भी व्यक्ति अब 14 दिनों तक बाहर नहीं निकल सकेगा और न ही कोई बाहरी प्रवेश कर सकेगा। इस इलाके में पुलिस, प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और ऑनलाइन डिलीवरी सेवाओं से जुड़े लोग ही दाखिल हो सकेंगे। इलाके की छूट वाली दुकानें भी बंद करा दी गई हैं। रविवार को ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व उपजिलाधिकारी सदर गौरव ङ्क्षसह सोगरवाल ने मौके पर पहुंचकर पूरे इलाके को सैनिटाइज कराया और लोगों से घरों में रहने की अपील की। ज्वाइंट मजिस्टे्रट गौरव ङ्क्षसह सोगरवाल ने बताया कि इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों को ऑनलाइन होम डिलीवरी पोर्टल के जरिये जरूरी सामान मुहैया कराया जाएगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021