Move to Jagran APP

Gorakhpur: सीएम योगी ने जनता दर्शन में सुनी 700 लोगों की समस्याएं, बोले- बख्शे न जाएं कमजोरों को उजाड़ने वाले

CM Yogi In Gorakhpur गोरखनाथ मंदिर में आयोजित जनता दर्शन में सीएम योगी आद‍ित्‍यनाथ ने 700 लोगों की समस्याएं सुनी। मुख्यमंत्री ने कहा क‍ि क‍िसी के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। सरकार हर व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाने को संकल्पित है।

By Jagran NewsEdited By: Prabhapunj MishraPublished: Wed, 29 Mar 2023 11:02 AM (IST)Updated: Wed, 29 Mar 2023 11:02 AM (IST)
CM Yogi In Gorakhpur: जनता दर्शन में लोगों की समस्‍याएं सुनते सीएम योगी आदित्‍यनाथ

गोरखपुर, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को दो टूक हिदायत दी है कि किसी की जमीन पर अवैध कब्जा करने वाले, कमजोरों को उजाड़ने वाले किसी भी सूरत में बख्शे न जाएं। उनके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए। सरकार किसी के भी साथ अन्याय नहीं होने देने और हर व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाने को संकल्पित है।

सीएम योगी बुधवार सुबह गोरखनाथ मंदिर में आयोजित जनता दर्शन में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। मंदिर परिसर के महंत दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार के सामने कुर्सियों पर बैठाए गए लोगों तक वह खुद पहुंचे और एक-एक करके सबकी समस्याएं सुनीं। इस दौरान करीब 700 लोगों से मुलाकात कर उन्होंने सबको आश्वस्त किया कि उनके रहते किसी के साथ नाइंसाफी नहीं होगी। सबके प्रार्थना पत्रों को संबंधित अधिकारियों को संदर्भित करते हुए त्वरित और संतुष्टिपरक निस्तारण का निर्देश देने के साथ लोगों को भरोसा दिलाया कि सरकार हर पीड़ित की समस्या का समाधान कराने के लिए दृढ़ संकल्पित है।

समस्या लेकर पहुंचे लोगों में महिलाओं की संख्या अधिक रही। जनता दर्शन में एक महिला ने घर उजाड़े जाने की पीड़ा बताई। सीएम ने उससे कहा कि उसे परेशान होने की आवश्यकता नहीं है, उनके रहते कोई भी किसी कमजोर या गरीब को उजाड़ नहीं पाएगा। मुख्यमंत्री ने पास में मौजूद प्रशासन व पुलिस के अफसरों को निर्देशित किया कि महिला की समस्या पर त्वरित एक्शन लिया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी दबंग, माफिया, अपराधी किसी की जमीन पर कब्जा न करने पाए।

मुख्यमंत्री के समक्ष जनता दर्शन में कई लोग इलाज के लिए आर्थिक सहायता की गुहार लेकर पहुंचे थे। सीएम योगी ने उन्हें आश्वस्त किया कि सरकार इलाज के लिए भरपूर मदद करेगी। उनके प्रार्थना पत्रों को अधिकारियों को हस्तगत करते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि इलाज से जुड़ी इस्टीमेट की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूर्ण करा कर शासन में उपलब्ध कराया जाए। राजस्व व पुलिस से जुड़े मामलों को उन्होंने पूरी पारदर्शिता वह निष्पक्षता के साथ निस्तारित करने का निर्देश देते हुए कहा कि किसी के साथ भी अन्याय नहीं होना चाहिए। हर पीड़ित के साथ संवेदनशील व्यवहार अपनाते हुए उसकी मदद की जाए।

जनता दर्शन में दिव्यांगजन की समस्या सुनते हुए उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया कि दिव्यांगजन को समाज की मुख्य धारा में लाने को सरकार सतत कार्य कर रही है। हर दिव्यांग की समस्या का त्वरित समाधान होना चाहिए। किसी दिव्यांग को बेवजह भागदौड़ करनी पड़ी तो संबंधित कर्मियों-अफसरों की जवाबदेही तय करते हुए कार्रवाई की जाएगी।

बच्चों को दुलारा, चॉकलेट देकर खूब पढ़ने को किया प्रेरित

जनता दर्शन में कुछ महिलाओं के साथ उनके बच्चे भी आए थे। मुख्यमंत्री ने उन्हें दुलारकर आशीर्वाद दिया। उनका नाम और स्कूल जाने के बारे में पूछा। उन्हें अपने हाथों से चॉकलेट गिफ्ट करते हुए खूब पढ़ने के लिए प्रेरित किया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.