गोरखपुर, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बुधवार की सुबह गोरखनाथ मंदिर स्थित कार्यालय में जनता दरबार लगाया। लोकसभा चुनाव के कारण लगी आचार संहिता की वजह से करीब दो महीने बाद आयोजित जनता दरबार में 300 से अधिक फरियादियों ने मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी समस्याएं बताईं। करीब डेढ़ घंटे तक मुख्यमंत्री ने लोगों की समस्‍याओं को सुना और समस्याओं का निराकरण करने का निर्देश अधिकारियों को दिया। मुख्यमंत्री से समस्याओं के समाधान का भरोसा पाकर फरियादी लौट गए।

बुधवार की सुबह परंपरागत रूप से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने गुरु गोरक्षनाथ की पूजा अर्चना की। इसके बाद ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की समाधि स्थल पर जाकर आशीर्वाद लिया। उसके बाद मुख्यमंत्री गोशाला में गए और गायों को गुड़-चना खिलाया। वहां से मुख्यमंत्री करीब सात बजे जनता दरबार में पहुंचे।

आचार संहिता समाप्त होने के बाद जिले के आला अधिकारी भी वहां मौजूद रहे। एक-एक कर फरियादियों को मुख्यमंत्री से मिलवाया गया। उन्होंने अपनी समस्याएं बताईं। मुख्यमंत्री ने इन समस्याओं पर पास खड़े अधिकारियों को कार्यवाही का निर्देश दिया। जमीन कब्जा व सुनवाई ना होने से जुड़ी शिकायतों की अधिकता रही।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस