गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखपुर के पहले ग्रामीण स्टेडियम की सौगात दी। जंगल कौड़िया के रसूलपुर चकिया में आयोजित कार्यक्रम में 10.16 करोड़ की लागत से निर्मित महंत अवेद्यनाथ जी महाराज स्टेडियम एवं 5.80 करोड़ रुपये की लागत से महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय में निर्मित प्रेक्षागृह का लोकार्पण किया। इस स्टेडियम में जिले का पहला सिंथेटिक रनिंग ट्रैक भी बनाया गया है। इसकी लंबाई 375 मीटर है।

हर गांव में बनेंगे खेल मैदान

उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश की और राष्ट्रीय मंच पर खिलाड़ी प्रदेश की क्षमता का प्रदर्शन करता है। इसलिए शुरू से ही उन्हें तैयार करन के लिए सुविधाएं मिलनी चाहिए। सरकार ने हर गांव में खेल मैदान बनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि विधानसभा स्तर पर विधायक खेलकूद प्रतियोगिता होने जा रही है। उसका फाइनल यहां हो तो अच्छा रहेगा। इससे खेलकूद की गतिविधियों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी। नाग पंचमी पर होने वाली कुश्ती का आयोजन भी महाविद्यालय को कराना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन ऋक ऋचा पांडेय ने किया।

डिजिटल प्लेटफार्म पर आगे बढ़ रहे युवा

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत दुनिया के मंच पर नई पहचान के साथ आगे बढ़ रहा है। नए भारत में नए उत्तर प्रदेश के लिए हमें युवाओं को पूरे तरीके से डिजिटल प्लेटफार्म पर आगे बढ़ाना होगा। स्मार्ट फोन व टैबलेट के माध्यम से सरकार ऐसा कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए बाहर नही जाना पड़ रहा है। इसके लिए अभ्युदय कोचिंग स्थानीय स्तर पर शुरू की गई है। उन्होंने महाविद्यालय के प्राचार्य से अपील की कि पढ़ाई के साथ ही विद्यार्थियों को तैयारी के लिए भी तैयार किया जाए जिससे पढ़ाई पूरी होने के साथ ही उन्हें कहीं नौकरी मिल जाए। इसके लिए एक करियर काउंसिलिंग सेल भी गठित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार ही हमें चलना होगा।

प्रदेश में निवेश करना चाह रहा देश-दुनिया का हर निवेशक

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आधारभूत संरचना मजबूत होने व सुरक्षा बढ़ने से देश व दुनिया का हर निवेशक यहां निवेश करना चाहता है। इससे रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं।

रामगढ़ताल की तर्ज पर विकसित करें अमृत सरोवर

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर में रामगढ़ताल विकास के नए माडल के रूप में विकसित हो रहा है। प्रधानममंत्री नरेन्द्र मोदी ने गांवों में अमृत सरोवर की नई परिकल्पना दी है। पंचायतों के माध्यम से इसे रामगढ़ताल की तर्ज पर विकिसत करना चाहिए। ऐसा हुआ तो यहां भी फिल्मों की शूटिंग होगी। उन्होंने कहा कि गांवों में कला के क्षेत्र में बहुत सी प्रतिभाएं हैं। कला का हमेशा सम्मान होना चाहिए।

गर्भवती की गोदभराई, शिशुओं का अन्नप्राशन कराया

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाल विकास परियोजना के स्टाल पर जाकर तीन गर्भवती महिलाओं को पोषण टोकरी देकर गोदभराई की। साथ ही तीन शिशुओं को दुलार कर उनका अन्नप्राशन कराया। स्वस्थ बालक-बालिका प्रतिस्पर्धा में उत्कृष्ट तीन बच्चों को उपहार प्रदान किया। सीएम ने इस दौरान दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, संकेत मूकबधिर विद्यालय तथा समाज कल्याण विभाग के स्टालों का अवलोकन कर बच्चों से मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ली।

दिव्यांगजन को दिया जरूरी उपकरणों का उपहार

लोकार्पण समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने मंच से चार दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को स्मार्ट केन व स्मार्ट फोन का उपहार प्रदान किया। इस अवसर पर 700 दिव्यांगजन को उनके सामान्य जीवनयापन के लिए उपयोगी संसाधन-उपकरण प्रदान किए गए। 100 दिव्यांगजन को मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल, 50 को ट्राइसाइकिल, 50 को व्हीलचेयर 200 को स्मार्ट केन, 100 को हियरिंग एड्स (कान की मशीन), 50 को एमआर किट, 50 को लैप्रोसी किट तथा 100 को कृत्रिम अंग (हाथ, पैर, कैलिपर्स आदि) वितिरत किए गए। मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल, ट्राइसाइकिल व व्हीलचेयर विरतण की रैली को सीएम योगी ने हरी झंडी दिखाई। मंच से प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व शहरी, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, कृषि विभाग की योजना के लाभार्थियों को सम्मानित किया गया।

ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा पर अर्पित की पुष्पांजलि

स्टेडियम व प्रेक्षागृह का लोकार्पण करने से पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने गुरुदेव ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। साथ ही महाविद्यालय परिसर में पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपने संकल्प को दोहराते हुए पौधारोपण किया। महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय में स्थापित प्रतिमा का लोकार्पण पिछली नवरात्र में सीएम योगी ने ही किया था।

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट