गोरखपुर, जेएनएन: देवरिया जिले के भटनी सीआइबी (क्राइम इंटेलिजेंस ब्रांच) की टीम ने गोरखपुर जनपद के चौरीचौरा स्थित एक मोबाइल की दुकान पर छापेमारी कर तीन ई-टिकट दलालों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 89 टिकट भी बरामद किए गए हैं। दलालों के खिलाफ आरपीएफ थाना देवरिया में मुकदमा दर्ज किया गया है। सीआइबी भटनी के प्रभारी संजय कुमार राय को मुखबिर से सूचना मिली कि चौरीचौरा स्थित मनोज मोबाइल दुकान से बड़े पैमाने पर ई-टिकट बनाने का कार्य चल रहा है। उन्‍होंने देवरिया के आरपीएफ इंस्पेक्टर मनभरन के साथ संबंधित दुकान पर छापा मारा। टीम के पहुंचते ही दुकान में अफरा-तफरी मच गई। टीम ने तीन युवकों को दबोच लिया। पूछताछ में गिरफ्तार आरोपितों ने अपना नाम संजय कुमार जायसवाल, अमित कुमार जायसवाल व मनोज कुमार जायसवाल निवासी भोपा बाजार चौरीचौरा बताया।

व्‍यक्‍तिगत आइडी से बनाते हैं टिकट

टीम ने जांच की तो पता चला कि वह आइआरसीटीसी के 84 व्यक्तिगत आइडी से टिकट बनाते हैं, उनके पास से 89 टिकट बरामद किए गए, जिसकी कीमत एक लाख 32 हजार रुपये थी। सीआइबी प्रभारी राय ने बताया कि यह चार साल से यह काम करते हैं और पांच हजार से अधिक ई-टिकट बनाकर बेच चुके हैं। हर टिकट पर 300 से 500 रुपये अधिक लेते हैं।

तीस लाख रुपये लेकर ग्राहक सेवा केंद्र संचालक फरार, मुकदमा

भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक सेवा केंद्र देवकुआं के संचालक द्वारा तीस लाख रुपये ग्राहकों का लेकर फरार होने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में पुलिस ने संचालक के खिलाफ गबन व धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दबिश भी दी, हालांकि देर रात तक आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी। गौरीबाजार थाना क्षेत्र के चरियांव खास टोला गोपाल चक निवासी रविंद्र सिंह एसबीआइ का ग्राहक सेवा केंद्र देवकुंआ में चलाता था। दिसंबर में ग्राहकों ने लेनदेन में बड़े पैमाने पर हेराफेरी करने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इसके बाद जिला प्रबंधक सीएससी ई-गवर्नेस सर्विस लिमिटेड अभिमन्यु शर्मा ने इसकी जांच की। जब ग्राहक सेवा केंद्र संचालक से कागजात मांगे तो वह देने की बजाय घर पर होने की बात कहा और फरार हो गया। 90 ग्राहकों ने तीस लाख रुपये गबन करने का आरोप लगाते हुए एसबीआइ को शिकायत की है। इस मामले में अभिमन्यु शर्मा की तहरीर पर पुलिस ने संचालक रविंद्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप