Move to Jagran APP

गोरखपुर में तीन दिन बाद नाले से शव बरामद, पुलिस ने दर्ज किया हत्या केस

उत्‍तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां रविवार को एक युवक तुर्रा नाला में डूब गया था। तीन दिन बाद उसका शव नाले से निकाला गया। शव नहीं मिलने पर स्वजन के साथ ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया था। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने खोजबीन शुरू की। घरवालों का आरोप था कि युवक की जान बूझकर हत्‍या की गई है।

By Jitendra Pandey Edited By: Vivek Shukla Wed, 10 Jul 2024 07:50 AM (IST)
गोरखपुर में तीन दिन बाद नाले से शव बरामद, पुलिस ने दर्ज किया हत्या केस
नाले से तीन दिन बाद शव मिलने से हड़कंप मच गया।

जागरण संवाददाता, पिपराइच। तुर्रा नाले में रविवार को डूबे अगया निवासी 19 वर्षीय करन चौहान का शव मंगलवार को बरामद हुआ। तीन दिन से एसडीआरएफ युवक की तलाश कर रही थी। सोमवार को शव नहीं मिलने पर स्वजन के साथ ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया था।

शव मिलने के बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं अगया निवासी करन की बहन प्रियंका ने तीन नामजद समेत दो अज्ञात के विरुद्ध तहरीर दी। पुलिस ने बीएनएस की धारा 103 के तहत हत्या (माब लिंचिंग ) का केस दर्ज किया।

अगया निवासी करन चौहान पिता की मौत के बाद से ही ग्राम लक्ष्मीपुर हैदर गंज में अपने मामा के घर रह रहा था। रविवार को शाम पांच बजे वह मामा के घर से अगया जा रहा था। रास्ते में जंगल अहमद अली शाह गांव के पास तुर्रा नाले में बच्चों को नहाते देख कर वह भी नहाने लगा। जैसे ही वह नाले में कूदा डूब गया।

इसे भी पढ़ें-लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर दूध के टैंकर से भिड़ी बस, 18 लोगों की मौत; 20 घायल

बच्चों के शोर मचाने पर ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। तभी से पुलिस एसडीआरएफ के साथ करन की तलाश कर रही थी। इधर, शव मिलने के बाद एक बार फिर उसकी बहन प्रियंका समेत अन्य स्वजन थाने पहुंचकर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे।

इसे भी पढ़ें-बारिश के बाद अब सताने लगी है उमस वाली गर्मी, आगरा में बरसात से राहत, जानिए कैसा रहेगा आज यूपी का मौसम

आरोप लगाया कि घटना के दिन आरोपित सुमित उसके भाई करन को बुलाकर ले गया था। इसके पहले भी हैदरगंज गांव में कुछ लोगों से कहासुनी व विवाद के बाद उसे भाई को धमकी दी गई थी। थाने में शिकायत की गई लेकिन पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया।

उन्हीं लोगों ने करन को डूबाकर मार डाला। हांगामे के बाद पुलिस ने बहन प्रियंका से तहरीर लेकर जंगलधूषण टोला हसनगंज निवासी सुमित, मोनू, दिनेश और धोधड़ा निवासी दो अज्ञात के विरुद्ध हत्या का केस दर्ज किया। सीओ चौरी चौरा नितिन तनेजा ने बताया कि केस दर्ज करने के बाद कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।