गोरखपुर, जागरण संवाददाता। एकमुश्त समाधान योजना से ज्यादा उपभोक्ताओं को जोडऩे के लिए बिजली निगम ने बिजली बाबू के नाम से वेबसाइट बनाया है। इस वेबसाइट पर कनेक्शन का अकाउंट नंबर डालकर बिल की पूरी जानकारी आसानी से मिल जाएगी। वेबसाइट की सभी को जानकारी देने और योजना से उपभोक्ताओं को जोडऩे के लिए बिजली निगम के अफसरों ने भागदौड़ शुरू कर दी है।

प्रिंट कर नोटिस भी दे सकते हैं

बिजली निगम ने बिजली बाबू वेबसाइट पर उपभोक्ता के बकाये, छूट आदि की पूरी जानकारी उपलब्ध करा दी है। उपभोक्ता पूरी जानकारी डाउनलोड कर पीडीएफ प्रति पा सकता है। बिजली निगम के अफसर पीडीएफ का प्रिंट निकालकर उपभोक्ता को नोटिस के रूप में दे सकते हैं। इससे उपभोक्ताओं और बिजलीकर्मियों को काफी सहूलियत होगी।

दो किलोवाट तक सरचार्ज माफ

बिजली निगम दो किलोवाट तक के कनेक्शन वाले घरेलू व वाणिज्यिक श्रेणी के उपभोक्ताओं के बिल का सरचार्ज सौ फीसद माफ कर रहा है। इससे ज्यादा क्षमता वाले उपभोक्ताओं के सरचार्ज में 50 फीसद की छूट दी जा रही है। नलकूप श्रेणी के उपभोक्ताओं का भी पूरा सरचार्ज माफ किया जा रहा है। 30 नवंबर तक योजना लागू है। सबसे खास बात यह है कि इस बार योजना में शामिल होने के लिए पंजीकरण नहीं कराना पड़ रहा है।

उपभोक्‍ता को मिलेगी पूरी जानकारी

अधीक्षण अभियंता यूसी वर्मा ने बताया कि वेबसाइट के माध्यम से भी उपभोक्ता अपने बिल, सरचार्ज और छूट की पूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं। बिजली निगम की इस वेबसाइट पर उपभोक्ताओं को पूरी जानकारी मिल रही है। उपभोक्ता एकमुश्त समाधान योजना का लाभ उठाएं।

अप्रैल तक चलेगी ग्वालियर-बरौनी स्पेशल

यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। 30 नवंबर तक चलने वाली 04185 ग्वालियर-बरौनी स्पेशल अब 31 मार्च तक चलेगी। एक दिसंबर तक चलने वाली 04186 बरौनी-ग्वालियर स्पेशल अब एक अप्रैल तक चलेगी। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार हालांकि, कोहरा के चलते 04185/04186 ग्वालियर-बरौनी-ग्वालियर नियमित स्पेशल के फेरों में दिसंबर से फरवरी तक कमी की गई है।

गोरखपुर-एलटीटी एसी स्पेशल के रेक संयोजन में बदलाव

रेलवे प्रशासन ने 01235/01236 नंबर की लोकमान्य तिलकटर्मिनस-गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस पूजा स्पेशल एक्सप्रेस के रेक संयोजन में बदलाव का निर्णय लिया है। एलटीटी से 09, 16 एवं 23 नवंबर को तथा गोरखपुर से 11, 18 एवं 25 नवंबर को वातानुकूलित प्रथम श्रेणी का 01, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के चार, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 12 कोच लगाए जाएंगे।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi