Move to Jagran APP

आयुष महाविद्यालयों को संबद्धता के लिए खर्च करने होंगे 1.50 लाख रुपये, कल से शुरू होगा शुरू होगा संबद्धीकरण

कार्य परिषद की बैठक के बाद यह शुल्क घट-बढ़ सकता है। महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय द्वारा चार जून से महाविद्यालयों की संबद्धता की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके लिए इस पत्र भेजे दिए गए हैं। महाविद्यालयों को विश्वविद्यालय के वेबसाइट पर विवरण दर्ज करना होगा।

By Pragati ChandEdited By: Published: Fri, 03 Jun 2022 06:14 PM (IST)Updated: Fri, 03 Jun 2022 06:14 PM (IST)
आयुष महाविद्यालयों को संबद्धता के लिए खर्च करने होंगे 1.50 लाख रुपये। फोटो सौ. विश्वविद्यालय वेबसाइट।

गोरखपुर, जागरण टीम। महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय ने प्रदेश के सभी 107 महाविद्यालयों की संबद्धता की प्रक्रिया शुरू कर दी है। चार जून से संबद्धीकरण शुरू होना है। इस संबंध में पत्र भेजे दिए गए हैं। महाविद्यालयों को विश्वविद्यालय की वेबसाइट- www.mggaugkp.ac.in पर जाकर अपना संपूर्ण विवरण दर्ज करना होगा। निजी महाविद्यालयों को प्रतिवर्ष 1.30 से 1.50 लाख रुपये तक शुल्क देने होंगे। राजकीय के लिए शुल्क 30 से 40 हजार रुपये तय किए गए हैं।

विश्वविद्यालय प्रशासन के अनुसार ये शुल्क अभी कार्य परिषद की बैठक में पास नहीं हुए हैं। यदि परिषद इससे कम या ज्यादा शुल्क तय करती है तो उसके अनुसार धनराशि ली जाएगी। कार्य परिषद कम शुल्क तय करती है तो बची हुई धनराशि महाविद्यालयों को वापस की जाएगी, यदि ज्यादा तय करती है तो शेष धनराशि उनसे ली जाएगी। निजी में सौ सीट पर 1.50 लाख व 60 सीट पर 1.30 लाख रुपये शुल्क तय किया गया है। राजकीय में सौ सीट पर 40 हजार व 60 सीट पर 30 हजार रुपये तय किए गए हैं। इसके अलावा निजी महाविद्यालयों से स्नातकोत्तर के प्रति छात्रों के हिसाब से पांच हजार व राजकीय से दो हजार रुपये अतिरिक्त शुल्क लिए जाएंगे। महाविद्यालयों को 18 प्रतिशत जीएसटी भी देना होगा।

नया महाविद्यालय खोलने के लिए भी शुल्क तय: यदि कोई आयुष का नया महाविद्यालय खोलना चाहता है तो उसे एक लाख रुपये शुल्क के रूप में देने होंगे। इसके बाद विश्वविद्यालय निरीक्षण करेगा। अनुमति मिलने के साल भर के अंदर यदि महाविद्यालय नहीं खुला तो अगले साल पुन: 50 हजार रुपये शुल्क लगेगा। पुन: न खुलने की स्थिति में तीसरे साल अनुमति निरस्त कर दी जाएगी। पुन: नये सिरे से प्रक्रिया शुरू करनी पड़ेगी।

कुलपति बोले: महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एके सिंह ने बताया कि सभी महाविद्यालयों को पत्र भेजे गए हैं। चार जून को सुबह 11 बजे से वे वेबसाइड पर अपना विवरण दर्ज कर सकते हैं। इसके लिए महाविद्यालय कोड, लागिन आइडी व पासवर्ड भेज दिए गए हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.