कुशीनगर: बाह्य दीवानी न्यायालय कसया के अधिवक्ताओं ने सिविल जज सीनियर डिविजन की कोर्ट कसया के लिए शासन से पद सृजन पर पर हर्ष जताया है। बताया कि लंबे अर्से से इसकी मांग चल रही थी। इस कोर्ट के यहां आने से क्षेत्र के वादकारियों को काफी राहत मिलेगी।

कुशीनगर सिविल कोर्ट बार एसोसिएशन कसया के अध्यक्ष ओंकारनाथ पाण्डेय ने बताया कि इस कोर्ट के लिए कसया में पद सृजित कराने को लेकर विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी व संघ के पूर्व अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह ने सार्थक पहल की। मुख्यमंत्री व विधि मंत्री ने भी पूरा सहयोग किया। अब इसकी उच्च न्यायालय से स्वीकृति मिलनी बाकी है। इसके बाद यहां कोर्ट चालू हो जाएगी। मंत्री अनिल तिवारी ने कहा कि कसया में इस कोर्ट के सृजन के लिए शासन से नोटिफिकेशन होना बड़ी बात है। अधिवक्ताओं के साथ वादकारियों का भी भला होगा। अधिवक्ता आनंद राय ने बताया कि विधायक की पहल व सरकार की सहमति से कसया क्षेत्र के लिए बड़ा कार्य हुआ है। अब वादकारियों को न्याय के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। न्याय की राह आसान होगी। अधिवक्ता ओमप्रकाश द्विवेदी ने कहा कि पहले से यहां जूनियर डिविजन कोर्ट चल रही थी, इसके साथ यहां सीनियर डिविजन की कोर्ट चालू होने के बाद वादकारियों को राहत मिलेगी।

पूरी हुई अधिवक्ताओं की मांग

विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी ने बताया कि मैं भी अधिवक्ता रहा हूं। कसया के अधिवक्ताओं की लंबे समय से यह मांग चली आ रही थी। सरकार ने उसे पूरा किया है। अधिवक्ता समाज के साथ वादकारियों को भी सहूलियत मिलेगी। अब लोगों को न्याय पाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।

Edited By: Jagran