गोरखपुर, (जेएनएन)। परसा तिवारी और बभनान स्टेशन के बीच रेल फ्रैक्चर होने के बाद ग्रामीणों और आम्रपाली एक्सप्रेस के लोको पायलटों की सतर्कता से एक बड़ा रेल हादसा टल गया। स्‍थानीय ग्रामीणों ने यदि लाल कपड़ा दिखा कर ट्रेन को न रोका होता तो ट्रेन दुर्घटनाग्रस्‍त हो सकती थी। घटना शनिवार की है।

सुबह 7.10 बजे के आसपास 15708 आम्रपाली एक्सप्रेस दोनों स्टेशनों के बीच लगभग 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी। इसी बीच लोको पायलट ओपी सिंह और सहायक लोको पायलट इम्तियाज की नजर रेल लाइन पर लाल कपड़े पर पड़ गई। आसपास गांव के लोग डंडा के सहारे लाल कपड़ा लहरा रहे थे।

लोको पायलटों ने सतर्कता दिखाते हुए ट्रेन को रोक लिया। पता चला कि रेल लाइन फ्रैक्चर है। लोको पायलटों ने कंट्रोल रूम को सूचना दी। मौके पर पहुंचे रेलकर्मियों ने रेल लाइन को दुरुस्त किया तो ट्रेन एक घंटे बाद नियंत्रित कर आगे के लिए रवाना हुई। गांव के लोगों का कहना था कि उन्होंने रेल लाइन पर फ्रैक्चर देख ट्रेन को रोकने की योजना तैयार कर ली थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस