गोरखपुर, जेएनएन। संतकबीर नगर जनपद के महुली थाना क्षेत्र के बसहिया गांव निवासी 55 वर्षीय अधिवक्‍ता अनिल यादव का शव पेड़ से लटका हुआ मिला। शव मिलने की सूचना से हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतारवा। मौके का निरीक्षण करने के बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। फॉरेसिंक टीम ने घटना स्थल से नमूना लिया। ग्रामीण हत्या कर शव को लटकाने की आशंका व्यक्त कर रहे है।

बसहिया गांव निवासी अनिल यादव खलीलाबाद दीवानी न्यायालय में वकालत करते थे। शनिवार की सुबह दस बजे अधिवक्‍ता के घर से पश्चिम सीवान में आम के पेड़ से रस्सी के फंदे से लटका हुआ शव गामीणों ने देखा। उसके बाद ग्रामीणों ने शोर मचाया।  तब स्‍वजन भी मौके पर पहुंच गए। फिर गांव के सभी के सभी लोग धीरे-धीरे इकट्ठा हो गए।

रात में पत्‍नी से हुआ था विवाद

अधिवक्‍ता के साले गोरखपुर जिला के खजनी थाना क्षेत्र के रुद्रपुर निवासी कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि शुक्रवार की देर शाम को अनिल यादव से किसी बात को लेकर उनकी बहन‌ दीपा व भांजे अभिजीत से विवाद हो गया था। उस के बाद नाराज होकर अनिल यादव घर से निकल गए थे। इसकी जानकारी उनकी बहन ने मोबाइल पर दी थी। अनिल यादव के पुत्र अभिजीत कुमार ने बताया कि शुक्रवार की शाम से ही पिता परेशान से लग रहे थे। भोजन करने के बाद पिता ने उससे कुछ जरूरी  बात करने को कह रहे थे लेकिन नींद के कारण सुबह बात करने की बात कहते हुए महाविद्यालय में सोने चला गया था। उसके पिता रोज की  तरह शनिवार को भी टहलने निकले थे।

मौत के कारणों से अनजान है स्‍वजन

अधिवक्‍ता अनिल यादव का बड़ा पुत्र अक्षय उर्फ अमरजीत बनारस में रहकर पीसीएस जे की तैयारी कर रहा है। परिजन भी मौत के कारणों से अनजान हैं। वकील अनिल यादव की मौत किस परिस्थिति में हुई, इसकी पुष्टि नही हो सकी। फॉरेंसिक टीम ने शव की स्थिति का जायजा लिया। सीओ अंबरीष भदौरिया, इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार सिंह ने पहुंचकर परिजनों से जानकारी ली। ग्रामीणों के सहयोग से शव को पेड़ से नीचे उतारा गया। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। ग्रामीण हत्या कर शव को लटकाकर आत्महत्या का स्वरूप होने की बात कह रहे है। थानाध्यक्ष प्रदीप सिंह का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। इस बारे में अभी कुछ कहना जल्‍दबाजी होगी। घटना के संबंध में अभी कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर तथा पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप