गोरखपुर, जागरण संवाददाता प्रदेश के पहले आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास 28 अगस्त को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों होगा। राष्ट्रपति के आगमन को देखते हुए हेलीपैड बनाने के लिए जगह तलाशी जा रही है। कुछ दिन पहले भटहट के पिपरी गांव में शिलान्यास स्थल का निरीक्षण करने के बाद जिलाधिकारी विजय किरण आनंद एवं मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह ने एक बार फिर वहां का निरीक्षण किया। अधिकारियों ने शिलान्यास स्थल के पास ही राष्ट्रपति के हेलीकाप्टर के लिए हेलीपैड बनाने की संभावना तलाशी। यहां मिट्टी डालकर जमीन तैयार करने को कहा गया है। इसके पहले तहसीलदार सदर डा. संजीव दीक्षित ने फर्टिलाइजर परिसर स्थित सीमा सुरक्षा बल (एसएसबी) के मैदान में तीन हेलीपैड बनाने के लिए जमीन देखी थी।

शिलान्‍यास स्‍थल पर पहुंचे डीएम, सीडीओ व एसपी सिटी

दूसरे दिन दोपहर में जिलाधिकारी विजय किरण आनंद, मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह एवं एसपी सिटी सोनम कुमार शिलान्यास स्थल पर पहुंचे। अधिकारियों ने कार्यक्रम स्थल के आसपास मिट्टी डालकर हेलीपैड बनाने की संभावना पर भी चर्चा की। ग्राम पंचायत पिपरी व तरकुलहां में चिन्हित 52 एकड़ भूमि पर आयुष विश्वविद्यालय के भूमि पूजन एवं शिलान्यास की तैयारी चल रही है। जिलाधिकारी के सामने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने अब तक कार्यक्रम स्थल से ढाई किमी की दूरी पर भटहट कस्बे के पटेल स्मारक इंटर कालेज के खेल मैदान व 14 किमी दूर फर्टिलाइजर के एसएसबी के मैदान में हेलीपैड बनाने का प्रस्ताव रखा है।

पीडब्‍ल्‍यूडी के अधिकारियों से मिट्टी की पटाई का कार्य शुरू करने का दिया निर्देश

जिलाधिकारी ने राष्ट्रपति के सुरक्षा प्रोटोकाल को देखते हुए पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से मिट्टी की पटाई का कार्य तत्काल शुरू कराते हुए कार्यक्रम स्थल के आसपास भी हेलीपैड तैयार करने की संभावनाओं की तलाश करने का भी निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने बरसात के मौसम को देखते हुए पूरे कार्यक्रम स्थल को वाटर प्रूफ पांडल से ढकने का निर्देश दिया। अधिकारियों ने कार्यक्रम में पहुंचने वाले लोगों की गाड़ियों की पार्किंग की रूपरेखा भी तैयार करने को कहा।

Edited By: Rahul Srivastava