गोरखपुर, जागरण संवाददाता। संतकबीर नगर जिले में अभ्योदय योजना के तहत जेईई, नीट व यूपीएससी की मुफ्त कोचिंग के लिए सिर्फ एक दिन में 25 नवंबर को 85 अभ्यर्थियों ने विकास भवन स्थित समाज कल्याण के दफ्तर में पंजीकरण करा लिया है। प्रभारी जिला समाज कल्याण अधिकारी ने इस दिन पंजीकरण कार्य का जायजा लिया।

कुछ माह पहले हुई थी प्रवेश परीक्षा

अभ्योदय योजना के तहत मुफ्त कोचिंग के लिए कुछ माह पूर्व प्रवेश परीक्षा हुई थी। इसमें इस जिले के 18 अभ्यर्थी जेईई के लिए, 26 अभ्यर्थी नीट के लिए व 148 अभ्यर्थी यूपीएससी के लिए चयनित हुए थे। इस प्रकार इस जिले के कुल 192 अभ्यर्थी मुफ्त कोचिंग के लिए चयनित हुए हैं। विकास भवन स्थित समाज कल्याण के दफ्तर में 25 नवंबर को जेईई के लिए छह, नीट के लिए 12 व यूपीएससी के लिए 67 अभ्यर्थियों ने अपना पंजीकरण करवाया है।

इतने अभ्‍यर्थियों ने नहीं कराया पंजीकरण

वहीं जेईई के लिए 12, नीट के लिए 14 व यूपीएससी के लिए 81 अभ्यर्थियों ने अभी अपना पंजीकरण नहीं कराया है। प्रभारी जिला समाज कल्याण अधिकारी महेंद्र कुमार ने बताया कि शासन के निर्देश पर अभ्योदय योजना के तहत अभ्यर्थियों के मुफ्त कोचिंग के लिए हीरालाल रामनिवास स्नातकोत्तर महाविद्यालय-खलीलाबाद में दो कमरे चिह्नित कर लिए गए हैं। शासन से निर्देश मिलते ही कोचिंग यहां पर शुरू करा दी जाएगी। इससे प्रतियोगी परीक्षा देने में सुविधा मिलेगी। इससे करियर को ऊंचा मुकाम मिल सकता है। यह शासन की अच्छी पहल है।

विद्यालयों में पठ्न-पाठन की स्थिति दयनीय

संतकबीर नगर जिले के परिषदीय विद्यालयों की स्थिति में गुणात्मक सुधार के लिए शासन ने मानक तय किया है। शिक्षकों के कार्यों का मूल्यांकन भी होता है। अधिकांश शिक्षकों के रुचि न लेने और विद्यालय में बच्चों की संख्या के हिसाब से शिक्षकों की तैनाती न होने से पठन-पाठन की स्थिति में सुधार नहीं आ पा रहा है। निरीक्षण के दौरान अक्सर खामियां उजागर हो रही हैं। विद्यालयों में बच्चों में उचित ज्ञान का अभाव है। बीएसए दिनेश कुमार ने व्यवस्था ठीक करने के लिए सभी खंड शिक्षाधिकारियों व प्रधानाध्यापकों को निर्देशित किया है।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi