गोरखपुर (जेएनएन)। परिवार का सहारा बनने को दक्षिण अफ्रीका के कांगो गए गोरखपुर के चौरीचौरा क्षेत्र के 42 लोगो को वहां पर बंधक बना लिया गया है। उनके परिवार के लोगों ने सांसद योगी आदित्य नाथ से भेंट कर अपने संकट से अवगत कराया।सांसद ने विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह से इस प्रकरण पर वार्ता की है।

गायत्री प्रजापति की बर्खास्तगी से भी सपा का भला नहीं होगा : योगी

पीडि़त परिवार के लोगों ने साक्ष्य के तौर पर सांसद को बंधक लोगों के फोटो के साथ उनके ऑडियो भी सुनवाए। पूरे प्रकरण को समझने के बाद सांसद योगी ने तत्काल इस संबंध में विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह से बात की।

जनरल सिंह के मांगने पर उन्हें सभी उपलब्ध साक्ष्यों से अवगत कराया गया। विदेश राज्य मंत्री ने यथा शीघ्र बंधकों की रिहाई के लिए हर संभव प्रयास का भरोसा दिया है।

गोरखपुर के एक क्लीनिक पर बदमाशों ने तीन को गोली मारी

पीडि़त लोगों का आरोप है कि चौरीचौरा क्षेत्र के उक्त लोगों को चौरी गांव के एक व्यक्ति ने कांगों में अच्छी नौकरी देने का झांसा देकर हर जाने वाले से 65 हजार रुपये लिये थे। वहां ले जाकर सबको फोंडेको (एफएक्स फेरेको) नामक फर्म को सौंप दिया। फर्म ने सबका पासपोर्ट अपने पास रख लिया है। संबंधित लोगों को आठ माह से वेतन नहीं मिला।

गोरखपुर नगर निगम में हडताल, कर्मचारी और पार्षद आमने-सामने

वेतन मांगने पर प्रताडि़त किया जाता है। इनमें से कई लोगों के वीसा की अवधि भी खत्म होने वाली है। इससे उनके परिवार के लोग परेशान हैं। फर्म ने सबका पासपोर्ट अपने पास रखकर उनको बंधक बना लिया है। संबंधित लोगों को आठ महीने से वेतन नहीं मिला है। वहीं वेतन मांगने पर प्रताडि़त किया जाता है।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप