गोरखपुर, जेएनएन : देवरिया जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देख चार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को कोविड अस्पताल बनाने की तैयारी तेज कर दी गई है। इन चार अस्‍पतालों में 30-30 बेड आक्सीजन युक्त होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में इन अस्पतालों के आक्सीजन युक्त होने से मरीजों को इलाज में काफी सुविधा होगी।

30-30 बेड कर लिए गए चिह्नित

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गौरीबाजार, पिपरा दौला कदम, परसिया चंदौर एवं रुद्रपुर परिसर में स्थित एमसीएच विंग में 30-30 वेड चिन्हित कर लिए गए हैं। यहां विधायक निधि से सभी बेडों तक पाइपलाइन से आक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी। इन चारों अस्पतालों के लिए सामान की खरीदारी शुरू हो गई है। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मुख्य विकास अधिकारी व मुख्य चिकित्साधिकारी से तैयारियां जल्द पूरा करने का निर्देश दिया है। इन अस्पतालों में आक्सीजन की आपूर्ति होने के बाद मरीजों को काफी सहूलियत मिलेगी।

एक सप्ताह के अंदर कोविड वार्ड शुरू करने का निर्देश

सूबे के राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया। एक सप्ताह के अंदर सीएचसी परिसर में कोविड वार्ड शुरू करने का दिशा-निर्देश दिया। राज्यमंत्री ने कहा कि कोविड वार्ड बनाने में किसी प्रकार की परेशानी होगी तो मदद की जाएगी। वार्ड के सभी 30 शैय्या बेड तक आक्सीजन की पाइप लाइन और उपकरण लग जाने से लोगों इलाज कराने में काफी सहूलियत मिलेगी। एक सप्ताह के अंदर चालू कराने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए डीएम आशुतोष निरंजन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं। साथ ही बीस लाख की धनराशि विधायक निधि से स्वीकृत कर दी गई है। इस दौरान एसडीएम संजीव कुमार उपाध्याय, सीओ अंबिका राम, डा.दिनेश आर्या, जितेंद्र टंडन, डा.अरविंद आर्या, सबरे आलम, विकास कुमार आदि मौजूद रहे।

वैदा में 24 की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव

रुद्रपुर के वैदा गांव में आरटीपीसीआर जांच में 24 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई है। उधर जांच टीम ने 184 लोगों का सैंपल लिया। चिकित्सा अधीक्षक डा.दिनेश यादव ने बताया कि सभी को होम आइसोलेशन में भेज दिया गया है। गांव को चारों तरफ से सील कर दिया गया है।