गोरखपुर, जेएनएन : महराजगंज के परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों की परीक्षा 25 व 26 मार्च तक आयोजित की जाएंगी। परीक्षा परिणाम 31 मार्च को जारी कर दिया जाएगा। शासन की तरफ से मिले निर्देशों के बाद जिला बेसिक शिक्षा विभाग ने तैयारियां शुरू करा दी हैं। बीएसए की ओर से सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इस बार जहां कक्षा तीन से आठ तक के छात्रों की परीक्षाएं होंगी, वहीं कक्षा एक व दो के छात्रों को 30 मिनट की मौखिक परीक्षा में ही पास कर दिया जाएगा। पंजीकृत हैं 233015 छात्र

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओपी यादव ने बताया कि इस वर्ष जिले के 2127 विद्यालयों में कुल 233015 छात्र पंजीकृत हैं, जो परीक्षा में प्रतिभाग करेंगे। इसमें कक्षा एक व दो के छात्रों की 30 मिनट मौखिक परीक्षा आयोजित की जाएगी। कक्षा तीन से पांच तक के नौनिहालों से 50 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे।  इसके लिए एक घंटे का समय निर्धारित किया गया है। कक्षा छह से सात तक के छात्रों को डेढ़ घंटे में 50 अति लघु उत्तरीय हल करने होंगे। कक्षा आठ के परीक्षार्थियों से अति लघु उत्तरीय व बहु विकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। इसके लिए आधे-आधे घंटे का समय निर्धारित किया गया है। परीक्षा के एक घंटे पूर्व विद्यालयों में प्रश्न पत्र पहुंचाया जाएगा। उन्होंने बताया कि कक्षा तीन से सात की उत्तर पुस्तिकाएं विद्यालय स्तर पर ही जांची जाएंगी। आठवीं की  उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन बीआरसी पर दूसरे विद्यालयों के अध्यापकों द्वारा किया जाएगा।

छात्रवृत्ति फार्म में सुधार की मांग, प्रदर्शन

महराजगंज जिले के कई महाविद्यालयों में अध्ययनरत पिछड़ी वर्ग के सैकड़ों छात्रों ने छात्रवृत्ति फार्म में सुधार की मांग को लेकर विकास भवन के सामने प्रदर्शन किया। विकास भवन पहुंचे सैकड़ों छात्रों ने जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी को शिकायती पत्र देकर सुधार की तिथि बढ़ाए जाने की मांग की है। विकास भवन शिकायत करने पहुंचे जगदीश प्रसाद पांडेय स्मारक महाविद्यालय अड्डा बाजार, बालाजी महाविद्यालय पकड़ी नौनिया, सरस्वती देवी महाविद्यालय निचलौल के बीएड अभ्यर्थी अमन मोदनवाल, राहुल जायसवाल, अभिषेक राठौर, गुलाब कुमार, राधिका, नीतू , चांदनी, सनी यादव, सतीश यादव, खुर्शीद,  जगनाथ, रामु  प्रजापति और विपिन शर्मा ने बताया कि विभाग द्वारा न तो फार्म रिजेक्ट की सूचना दी जाती है और न अब सुधार की तिथि ही बची है। ऐसे में अगर तिथि नहीं बढ़ाई गई तो सैकड़ों छात्र छात्रवृत्ति से वंचित हो जाएंगे। छात्रों ने छात्रवृत्ति फार्म के सुधार कराने के लिए तिथि बढ़ाए जाने की मांग की है। जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी रत्नेश सिंह ने बताया कि 21 मार्च को ही फार्म सुधार की अंतिम तिथि थी। इसको बढ़ाने के लिए प्रतिवेदन भेजा जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप