गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर में दो माह के भीतर भीतर अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। बदमाशों के हौसले बुलंद और पुलिस के पस्‍त दिख रहे हैं। एक अगस्‍त से 20 सितंबर के बीच 20 हत्‍याएं हो चुकी है। सबसे डराने वाली बात दो महीनों में छह महीने के बराबर हत्याएं हो चुकी है। जो कि पुलिस के कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़ा करती है। आंकड़े के अनुसार अगस्‍त में 14 लोगों की हत्याएं हुई हैं। किसी को गोली मारी गई है तो किसी को पीटकर या धारदार हथियार से हमला कर मारा गया है। कई जगह पुलिस की लापरवाही उजागर हुई, जांच में बात सामने आने पर कार्रवाई भी हुई। लेकिन अपराध रुक नहीं पा रहा है।

अगस्‍त व सितंबर में हुई प्रमुख घटनाएं

09 अगस्त को कोतवाली के चालीस वर्षीय तौसीफ की हत्या

08 अगस्त को गोला में प्रेम संबंध में युवक की हत्या कर फेंकी गई लाश मिली

05 अगस्त को गुलरिहा इला‌के में अनरजीत व उसकी पत्नी रीमा की हत्या

11 अगसत हरपुर बुदहट में बुजुर्ग कमला की हत्या

12 अगस्त को बड़हलगंज में बेटे ने पिता की हत्या भूमि विवाद में की

16 अगस्त को गगहा में धास छिलने को लेकर अधिवक्ता राजेश्वर की हत्या

19 अगस्त चौरीचौरा के बंसहिया में बादामी देवी की गला काटकर हत्या

22 अगस्त को शाहपुर में महिला की हत्या कर नंगी लाश मिली

23 अगस्त को गगहा के पोखरी में हेमलता व उसके बेटे हर्ष की हत्या

26 अगस्त कोगुलरिहा के मरचाईन में देवरिया की युवती की हत्या

28 अगस्त को खजनी में बुजुर्ग की हत्या

28 अगस्त को गोरखनाथ में युवक की हत्या कर लाश मिली, अभी शिनाख्त नहीं

03 सितंबर बड़हलगंज के जगदीशपुर में भाला घोंपकर बुजुर्ग की हत्‍या कर दी

05 सितंबर झंगहा के गजाईकोल में बुजुर्ग की पीटकर हत्‍या दी

05 सितंबर झंगहा के पांडेय टोला में नाली के विवाद में बुजुर्ग को पीटा, इलाज के दौरान मौत

07 सितंबर पीपीगंज के कैथवलिया में दस वर्षीय बालक की हत्‍या

09 सितंबर पीपीगंज के ताललिखिया में राजगीर की गला रेतकर हत्‍या

16 सितंबर कैंपियरगंज में युवती की गला रेतकर हत्‍या

20 सितंबर गुलरिहा के भटहट में बुजुर्ग की पीटकर हत्‍या

20 सितंबर शाहपुर क्षेत्र में प्रधानाध्‍यापिका की गोली मारकर हत्‍या

गोरखपुर के टॉप 10 बदमाश

राघवेंद्र यादव (हिस्ट्रीशीट नंबर 161ए): गैंगेस्टर, हत्या समेत पांच मुकदमे दर्ज है। एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या में वांछित है। इस पर एक लाख रुपये का इनाम है।

शैलेंद्र प्रताप सिंह (हिस्ट्रीशीट नंबर 37 ए): हत्या, गैंगेस्टर, गुंडा सहित 9 मुकदमे दर्ज है। इस पर 25 हजार रुपये का इनाम है।

राकेश यादव (हिस्ट्रीशीटर नंबर 33ए): हत्या, हत्या की कोशिश, लूट, धमकी, एनएसए सहित 27 मुकदमे दर्ज है। इस पर 15 हजार का इनाम है।

राधे उर्फ राधेश्याम यादव (हिस्ट्रीशीट नंबर 115 ए): लूट, गैंगेस्टर, हत्या, गुंडा, एनडीपीएस के कुल 35 मुकदमे दर्ज है।

सत्यव्रत राय (हिस्ट्रीशीट नंबर 53ए): हत्या, गैंगेस्टर, गुंडा सहित 16 मुकदमे दर्ज है।

सुभाष शर्मा (हिस्ट्रीशीट नंबर 100 ए): हत्या, लूट, डकैती, आर्म्स एक्ट सहित 22 मुकदमे दर्ज है।

अजीत शाही (हिस्ट्रीशीट नंबर 54ए): हत्या, लूट, आपराधिक साजिश, गैंगेस्टर, गुंडा एक्ट सहित 33 मुकदमे दर्ज है।

प्रदीप सिंह (हिस्ट्रीशीट नंबर 9ए) : हत्या, लूट, डकैती, धमकी, जमीन कब्जा की कोशिश सहित 53 मुकदमे दर्ज है।

सुधीर सिंह (हिस्ट्रीशीट नंबर 1ए): लूट, हत्या, डकैती, गुंडा, आर्म्स एक्ट सहित 33 मुकदमे दर्ज है।

विनोद उपाध्याय (हिस्ट्रीशीट नंबर एक बी): हत्या, हत्या की कोशिश, लूट, जमीन कब्जा कराने सहित 25 मुकदमे दर्ज है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस