संसू, गोंडा: आदर्श जंक्शन में शामिल गोंडा रेलवे स्टेशन अव्यवस्थाओं के फेर में फंसा हुआ है।अवैध वेंडरिग के साथ ही पानी के संकट से यात्रियों को दो चार होना पड़ रहा है। स्वचलित सीढ़ी खराब है, ऐसे में बुजुर्ग व दिव्यांग यात्रियों को काफी परेशानी से जूझना पड़ रहा है।

गोंडा रेलवे स्टेशन पर लाइनों का सुधार कर दिया गया है लेकिन, अन्य व्यवस्थाएं जस की तस है। प्लेटफार्म की टिन शेड टूटी हुई है। यही नहीं, स्वचलित सीढ़ी खराब है। इससे बुजुर्ग व दिव्यांग यात्रियों को असुविधा हो रही है। राम कुमार, लक्ष्मी नरायन का कहना था कि इस समस्या की तरफ जिम्मेदार को ध्यान देना चाहिए। ट्रेनों में अवैध वेंडरिग का खेल चल रहा है। हालांकि आरपीएफ अभियान चलाने की बात कह रही है। स्टेशन के गेट पर टैक्सियों का जमावड़ा रहता है। यहां पर यात्रियों से मनमाना पैसा लिया जाता है। कई बार इसकी शिकायत भी हुई लेकिन, कार्रवाई के नाम पर सिफर है। पूर्वोत्तर रेलवे के क्षेत्रीय प्रबंधक मनीष कुमार का कहना है कि दिखवा रहे हैं। टिन शेड का काम संबंधित विभागीय अधिकारी देख रहे हैं।

-----------------

रेल मंत्री को भेजी शिकायत

- पूर्वोत्तर रेलवे क्षेत्रीय परामर्शदात्री समिति के सदस्य पंकज कुमार श्रीवास्तव ने रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव को समस्याओं से अवगत कराया है। इलाहाबाद से गोंडा जंक्शन तक सरयू साकेत एक्सप्रेस का विस्तार किये जाने, गोंडा से कानपुर एवं कानपुर गोंडा जंक्शन तक मेमो ट्रेन का संचालन किये जाने, गोंडा कचहरी स्टेशन का नाम अमर शहीद राजेंद्र नाथ लाहिड़ी किये जाने की मांग की है। रेल परिसर की खाली पड़ी जमीनों से अवैध कब्जेदारों को हटा कर कार्रवाई किये जाने, गोंडा जंक्शन परिसर में रेलवे दुकानों पर अवैध कब्जा, किरायेदारी एवं आस-पास किये गये अतिक्रमण को हटाने तथा दुकान आवंटन में लिप्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।

Edited By: Jagran