गोंडा(जेएनएन)। जिले में बिरयानी खाने से लोगों में उल्टी-दस्त का प्रकोप फैल गया। इसके चलते सात वर्षीय बालिका की मौत हो गई, जबकि 27 लोग बीमार हो गए। सभी का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

ये है पूरा मामला

मामला परसपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र का है। यहां मोहना के शेखनपुरवा व मोहना खास गांव में गत 19 सितंबर से उल्टी दस्त की बीमारी ने कहर बरपाना शुरू कर दिया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो यहां पर उक्त दिन बिरयानी बनी थी, जिसे लोगों ने खाया था। इसी वजह से शुरू हुई बीमारी की चपेट में आकर शुक्रवार को सिराज की सात वर्षीय बेटी सादिया बानो की मौत हो गयी। इसके अलावा यहां पर रुकैया बानो (04), मोनू (12), आसमीन बानो (15), कादिर अली (09), बाबू (06), तमन्ना (11) समेत 27 बीमार हो गए। इसमें से नौ बीमारों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है, जबकि अन्य का इलाज गांव में ही स्वास्थ्य विभाग की टीम कर रही है। सूचना मिलते ही मुख्यालय से पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उपचार शुरू कर दिया है।

क्या कहते हैं अफसर?

संक्रामक रोग नियंत्रण विभाग के नोडल अधिकारी डॉ. गयासुल हसन ने गांव का भ्रमण करने के बाद बताया कि बिरयानी के सेवन से ही लोग उल्टी-दस्त से पीडि़त हैं। एक बालिका की मौत हो गयी है, 27 अन्य बीमार हैं। गांव में स्वास्थ्य टीम कैंप कर रही है।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस