Move to Jagran APP

Gonda Accident: एक गलती ने न‍िगल ली दो ज‍िंदग‍ियां, गोंडा में करण भूषण स‍िंह के काफ‍िले की गाड़ी से हुए हादसे की पूरी कहानी

दो भाइयों की मौत के बाद ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन से गोंडा-लखनऊ हाईवे से हुजूरपुर क्रासिंग तक करीब एक किलाेमीटर जाम लग गया। मार्ग के दोनों तरफ से लोगों का आवागमन ठप हो गया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने गाड़ी कब्जे में लेने के साथ ही चालक को हिरासत में लेने की जानकारी देकर लोगों को शांत कराया। सुबह 11 बजे तक एक घंटे मार्ग जाम रहा।

By Ajay Pandey Edited By: Vinay Saxena Thu, 30 May 2024 09:10 AM (IST)
गोंडा में हुए हादसे में जान गंवाने वाले दो युवक और फॉर्च्यूनर कार।

संवाद सूत्र, भंभुआ (गोंडा)। समय सुबह नौ बजे। हुजूरपुर रेलवे क्रॉसिंग के पास तिराहे पर चाय, पान, जूस की दुकानें लगी थीं। रोज की तरह से सबकुछ सामान्य चल रहा था। करण भूषण सिंह का दस से 12 गाड़ियों का काफिला निकला। काफिले की अधिकतर गाड़ियां बाहर निकल चुकी थी। इंटरसिटी ट्रेन के आने की सूचना पर क्रॉसिंग बंद हो गई।

क्रॉसिंग खुलने पर काफिले में शामिल फॉर्च्यूनर गाड़ी निकली। अभी 300 मीटर दूर ही पहुंची थी कि हादसा हो गया। चीख पुकार के साथ घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया, जहां घायल रेहान खान व शहजाद खान को डॉक्‍टर ने मृत घोषित कर दिया। जबक‍ि दुर्घटना में घायल छतई पुरवा की सीता देवी को मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया। काफिले में शामिल होने की जल्दबाजी ने दो जिंदगियां निगल ली।

चीत्कार, आक्रोश व विरोध प्रदर्शन में बदल गया माहौल

जो दिनचर्या सुबह नौ बजे तक सामान्य थी, आधे घंटे बीतने के बाद माहाैल चीत्कार, आक्रोश व विरोध प्रदर्शन में बदल गया। सुबह करीब साढ़े नौ बजे सीएचसी पर चिकित्सक के दो भाइयों को मृत घोषित किए जाने के बाद छतईपुरवा, निंदूरा सहित अन्य आसपास गांव व नगर के लोग एकत्र होने लगे। सुबह दस बजे तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर करीब 500 लोग एकत्र हो गए। हादसे से गुस्साई भीड़ ने नारेबाजी शुरू कर दी। कार्रवाई की मांग को लेकर कर्नलगंज-हुजूरपुर मार्ग जाम कर दिया।

एक किलोमीटर तक लग गया जाम

दो भाइयों की मौत के बाद ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन से गोंडा-लखनऊ हाईवे से हुजूरपुर क्रासिंग तक करीब एक किलाेमीटर जाम लग गया। मार्ग के दोनों तरफ से लोगों का आवागमन ठप हो गया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने गाड़ी कब्जे में लेने के साथ ही चालक को हिरासत में लेने की जानकारी देकर लोगों को शांत कराया। सुबह 11 बजे तक एक घंटे मार्ग जाम रहा। कोतवाल कर्नलगंज निर्भय नारायण सिंह ने कहा कि लोगों को शांत कराकर आवागमन बहाल करा दिया गया है। शांति व्यवस्था बनी हुई है।

सऊदी से आया था शहजाद

निंदूरा निवासी शहजाद उर्फ शहजादे मंगलवार की शाम को एक वर्ष बाद सऊदी से घर आया था। सुबह वह दवा लेने के लिए अपने चचेरे भाई रेहान के साथ कर्नलगंज के लिए निकला था। मृतक शहजाद के पिता आजाद खान कोलकाता में नौकरी करते हैं। मां गृहणी है। वही मृतक रेहान की मां चंदा बेगम का रोरोकर हाल बेहाल है। वह कहती है कि दोनों दवा लेने की बात कहकर बाइक से निकले थे। इसके बाद वह गश खाकर गिर जाती है। रेहान दो भाइयों में बड़ा था। रेहान के पिता अजमेरी खान सऊदी में रहते हैं। उन्हें भी फोन से हादसे की जानकारी दी गई है।

यह भी पढ़ें: कैसरगंंज से BJP प्रत्‍याशी करण भूषण स‍िंह के काफ‍िले में शाम‍िल कार से हादसा, फॉर्च्यूनर की टक्‍कर से दो भाइयों की मौत

यह भी पढ़ें: गोंडा व कैसरगंज में दांव पर लगी 10 विधायकों की प्रतिष्ठा, लोकसभा चुनाव तय करेगा 2027 का जनाधार