गोंडा: बाल विवाह के खिलाफ बालिकाओं को जागरूक करने की आवश्यकता है। बालिकाओं को उनके अधिकारों के बारे में बताया जाय, जिससे वह आगे आकर अपनी जिम्मेदारी निभा सकें।

यह बातें कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय हलधरमऊ में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बाल कल्याण समिति की न्याय पीठ के अध्यक्ष राजेश कुमार यादव ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के बारे में जानकारी देते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि बाल विवाह किसी भी ²ष्टि से उचित नहीं है। इसके प्रति लोगों को आगे आना होगा। इसमें बालिकाओं की भूमिका काफी अहम है। उन्होंने कहा कि यदि कहीं पर भी बाल विवाह की जानकारी मिलती है तो उन्हें फोन करके अवगत कराएं, जिस पर तत्काल कार्रवाई की जा सके। कार्यक्रम में सदस्य अनुपमा श्रीवास्तव, नीलम श्रीवास्तव, सय्यद कासिम हुसैन काजमी ने विचार व्यक्त करते हुए अधिनियम के बारे में बताया। वार्डेन किरन वर्मा ने बताया कि बाल विवाह के खिलाफ लोगों को जागरूक करने के लिए 4 मई को रैली निकाली जाएगी। इस अवसर पर ग्राम प्रधान सहित अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran