Move to Jagran APP

UP News: करण भूषण के काफ‍िले से हुए हादसे के बाद भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने दी सफाई, बोले- मेरा बेटा नहीं, यह है जिम्‍मेदार

कैसरगंज लाेकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी करण भूषण सिंह ने कहा कि छतईपुरवा के पास हुई दुर्घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और मैं पीड़ित परिवार के साथ हूं। जिस वक्त घटना हुई मैं पांच से सात किलोमीटर दूर बहराइच जिले में आयोजित एक कार्यक्रम में था। जानकारी मिलने पर दूसरा वाहन भेजकर घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन वह नहीं बच सके।

By Vivek Shukla Edited By: Vivek Shukla Fri, 31 May 2024 09:57 AM (IST)
कैसरगंज लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी करण भूषण सिंह के काफिले में शामिल फार्च्यूनर से रेहान-शहजादे की मौत हो गई थी।

 जागरण संवाददाता, गोंडा। कर्नलगंज-हुजूरपुर मार्ग पर छतईपुरवा गांव के पास बुधवार की सुबह कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी करण भूषण सिंह के काफिले में शामिल फार्च्यूनर से रेहान व शहजादे की मौत होने के बाद गुरुवार को निंदूरा गांव में उनके घर चूल्हे नहीं जले। परिवारीजन व गांव के लोग गम, गुस्से व आक्रोश में दिखे।

मृतकाें के घर राजनीतिक दलों के पदाधिकारी संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। परिवारीजन से मुलाकात कर ढांढस बंधाया। उधर कैसरगंज लाेकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी करण भूषण सिंह ने कहा कि छतईपुरवा के पास हुई दुर्घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और मैं पीड़ित परिवार के साथ हूं। जिस वक्त घटना हुई मैं पांच से सात किलोमीटर दूर बहराइच जिले में आयोजित एक कार्यक्रम में था। जानकारी मिलने पर दूसरा वाहन भेजकर घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन वह नहीं बच सके।

दुर्घटना के समय से अंतिम संस्कार होने तक मेरे सहयोगी और समर्थक पीड़ित परिवार के साथ रहे हैं और आगे भी उनकी हरसंभव मदद की जाएगी। दुर्घटनाग्रस्त वाहन चालक के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा किया है। उन्होंने कहा कि दुर्घटना से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को छिपाकर जिस तरीके से मेरे विरूद्ध खबरें दिखाई जा रही हैं उन जिम्मेदार व्यक्तियों से मेरा अनुरोध है कि सनसनी फैलाने से बेहतर है कि खबरों की पुष्टि करें और सच को दिखाएं।

इसे भी पढ़ें-मां को दस्त आई तो गला रेतकर सिर को कुएं में फेंका, 10 साल बाद पिता की गवाही पर बेटे को हुई उम्रकैद की सजा

घटना दुखदायी, चालक जिम्मेदार

कैसरगंज सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने एक मीडिया चैनल से बातचीत में कहा कि घटना दुखदायी है। दुर्घटना के लिए चालक जिम्मेदार है। पीड़ित परिवार के साथ मेरी संवेदना है, हरसंभव मदद की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-आगरा-गोरखपुर में बारिश ने किया सूरज के तेवर को ठंडा, प्रयागराज में प्रचंड गर्मी से त्राहि-त्राहि

50-50 लाख रुपये दें मुआवजा गोंडा

कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से सपा प्रत्याशी भगतराम मिश्र ने कहा कि रेहान व शहजादे गरीब परिवार से थे। माता-पिता मजदूरी करके आजीविका चलाते हैं। दुर्घटना ने दो परिवारों से उनकी उम्मीदें छीन ली हैं। उन्होंने मृतकों के परिवारजन से मिलकर ढांढस बंधाया। साथ ही सरकार मृतकों के परिवार को 50-50 लाख रुपये का मुआवजा दें। घायल सीतापती के इलाज का पूरा खर्च उठाने के साथ ही परिवार को दस लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिलाने की मांग की गई है।

कार्रवाई पर उठाया सवाल गोंडा

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर व सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने निंदूरा गांव में पीड़ित परिवार से भेंटकर ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन उक्त प्रकरण में पक्षपात पूर्ण कार्रवाई कर रही है। मुकदमे में न तो सही धारा लगाई गई और न ही जांच।

अनपढ़ महिला से अंगूठा लगवाया गया और तहरीर दूसरे व्यक्ति से मनमाफिक लिखवाई गई। बिना तकनीकी जांच कराए ही वाहन हटा दिया गया। उन्होंने कहा कि न्याय का गला घोंटा जा रहा है।

कहा कि डीएम व एसपी से मिलकर पीड़ित परिवार को न्याय व मुआवजा दिलाने, मुकदमे में सही धारा बढ़ाकर कार्रवाई की मांग की है। यदि ऐसा नहीं हुआ तो उक्त प्रकरण को सक्षम स्तर पर से उठाया जाएगा। वह पीड़ित परिवार की विधिक रूप से मदद करेंगे।