संसू, गोंडा: मनकापुर में ग्राम न्यायालय की स्थापना के विरोध में बुधवार को भी वकील सड़क पर उतरे। जुलूस निकालकर प्रदर्शन करके गोंडा-लखनऊ हाईवे को दीवानी न्यायालय चौराहे पर जाम कर दिया। इसी बीच एक पुलिस कर्मी को रोकने को लेकर आक्रोशित वकीलों ने कोतवाल के साथ धक्का मुक्की शुरू कर दी। इससे अफरा-तफरी मच गई। एसपी संतोष कुमार मिश्र ने इस मामले में मुकदमा करने का आदेश कोतवाली पुलिस को दिया है।

बुधवार को कलेक्ट्रेट परिसर स्थित बार एसोसिएशन सभागार से अध्यक्ष दीनानाथ त्रिपाठी व महामंत्री मनोज कुमार सिंह, सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश मिश्र व महामंत्री अनुज प्रकाश की अगुवाई में अधिवक्ताओं ने जुलूस निकाला। मांगों के समर्थन में नारेबाजी करते हुए वकील दीवानी कचेहरी पहुंचे। यहां से चौराहे पर पहुंचे वकीलों ने गोंडा-लखनऊ मार्ग जाम कर दिया। जाम के दौरान पुलिस लाइंस की तरफ से एक पुलिस कर्मी बाइक से पहुंच गया। इस पर शुरू हुई कहासुनी के बीच नगर कोतवाल आलोक राव मौके पर पहुंच गए। जब तक कोई कुछ समझ पाता तब तक कोतवाल से धक्कामुक्की शुरू हो गई। हालांकि वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने हस्तक्षेप करके स्थिति को संभाल लिया। बाद में एएसपी शिवराज व सीओ लक्ष्मीकांत भी मौके पर पहुंच गए। सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश मिश्र का कहना है कि जो भी हुआ, वह उनके एजेंडे में नहीं था। इस घटना के लिए वह खेद जाहिर करते हैं।

नगर कोतवाल आलोक राव का कहना है कि वीडियो रिकार्डिंग में हंगामा करने वाले वकीलों की पहचान की जा रही है। इसके आधार पर मुकदमा किया जाएगा।

Edited By: Jagran