जागरण संवाददाता, गाजीपुर : नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में शनिवार की रात तेज हवा ओर बारिश से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। जगह-जगह पेड़ गिरने से कई जगह की बिजली गुल हो गई वहीं करंडा थाना क्षेत्र में बक्सा निवासी राजकुमार की छप्पर रखी दीवार गिर गई, जिसमे गृहस्थी का सामान दबकर नष्ट हो गया। तेज हवा एवं बारिश के कारण विभिन्न क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई।

नगर में देर शाम तेज हवा और बारिश से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इस कारण कई बार बिजली आने एवं जाने का सिलसिला बना रहा है। हालांकि नगर में कहीं भी पेड़ गिरने का हादसा नहीं हुआ लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को ऐसी समस्या से दो -चार होना पड़ा। करंडा में क्षेत्र में आंधी-पानी में ग्राम सभा बक्सा निवासी राजकुमार की छप्पर रखी दीवार गिर गई जिसमें चारा काटने वाली मशीन, अनाज, भूसा, कपड़े आदि दबकर क्षतिग्रस्त हो गए। हालांकि जानमाल का कोई नुकसान नही हुआ। वहीं आंधी-पानी का सबसे ज्यादा असर विद्युत आपूर्ति पर पड़ा है। जगह जगह पेड़ों के गिरने से तार टूट गए है जिनके मरम्मत का कार्य तेज गति से चल रहा है बिजली न होने की वजह से जहां पेयजल की भी समस्या बनी हुई है। जेई पंकज जायसवाल ने बताया कि मरम्मत का कार्य चल रहा है।जल्द ही आपूर्ति बहाल कर ली जाएगी। बारिश से रातभर गुल रही बिजली, हाहाकार भदौरा : 33 केवी लाइन ब्रेक डाउन होने से रातभर बिजली गायब रही। रुक-रुककर बारिश होते रहने के कारण कर्मचारी फाल्ट सही नहीं कर पाए। विद्युत उपकेंद्र बारा से जुड़े तीन गांव के लोग रातभर बिजली के लिए परेशान रहे। इससे पेयजल आपूर्ति भी बाधित रही। रविवार को सुबह में भी बिजली का संकट बना रहा। विद्युत उपकेंद्र से बारा, कुतुबपुर, रोइनी गांव में बिजली सप्लाई होती है। शनिवार की रात कभी झमाझम तो कभी हल्की बारिश होती रही। इसका बिजली व्यवस्था पर सीधा असर पड़ा। रातभर बिजली गुल होने से लोगों के इनवर्टर भी जवाब दे गए। लोगों ने सोचा कि सुबह बिजली आ जाएगी, लेकिन नहीं आई। बिजली न होने से लोग मोबाइल भी चार्ज नहीं कर पाए। बिजली नहीं होने की वजह से पेयजल संकट भी गहरा गया। विद्युत उपकेंद्र बारा पर तैनात एसएसओ कैलाश यादव ने बताया कि बरसात के कारण 33 केवी लाइन में ब्रेक डाउन होने से रात में आपूर्ति ठप रही। सुबह बिजली कर्मचारी फाल्ट ठीक किए तब बिजली आपूर्ति बहाल हो सकी। पेड़ गिरने से दो फीडर की बिजली रही गुल

जमानियां : तेज हवा व बारिश के कारण शनिवार की रात आठ बजे कई जगह बिजली के पोल व तार पर पेड़ गिरने से उपकेंद्र से संचालित रेलवे स्टेशन व दरौली फीडर की विद्युत आपूर्ति बंद हो गयी। विभागीय कर्मचारियों की मशक्कत के बाद भी दूसरे दिन शाम पांच बजे तक यानि 20 घंटे बाद भी बहाल नहीं हो सकी। विद्युत विभाग के कर्मचारी आपूर्ति बहाल करने के लिए पेड़ को हटाने में जुटे हुए थे। जगह-जगह टूटे तारों को दुरुस्त किया गया, लेकिन समाचार लिखे जाने तक आपूर्ति को दुरुस्त नहीं किया जा सका था। अवर अभियंता इंद्रजीत पटेल ने बताया कि कई जगह पेड़ गिरने से आपूर्ति बाधित रही। कर्मचारी लगवाकर किसी तरह कार्य किया गया है। देर शाम तक रेलवे स्टेशन व दरौली फीडर की आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी।

Edited By: Jagran