जासं, बिरनो (गाजीपुर): थाना क्षेत्र के इनवां गांव की दलित बस्ती में ईसाई धर्म सभा स्थल पर रविवार को दोपहर में पुलिस धमक गई। इससे वहां पर अफरातफरी मच गई। पुलिस ने आयोजक जगजीवन राम को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद धर्मसभा को बंद कराया गया।

हिदू समाज के गरीब तबके के लोगों को रुपये का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था। क्षत्रिय महासभा (युवा) के सदस्यों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने आयोजक जगजीवन राम निवासी इनवां से ईसाई धर्मसभा आयोजन संबंधित दस्तावेज मांगा। वह कोई भी कागजात नहीं दिखा पाया। आरोप है कि आयोजक बंद कमरे में 25 महिलाओं को बैठाकर ईसाई धर्म के बारे में जानकारी दे रहा था। इसके बाद पुलिस ने धर्मसभा के आयोजक को गिरफ्तार कर थाने ले आई। थानाध्यक्ष अवधेश प्रसाद सिंह ने बताया कि ग्रामीणों एवं क्षत्रिय महासभा के सदस्यों द्वारा लगातार धर्म सभा की शिकायत मिल रही थी। आयोजक से पूछताछ की जा रही है। महासभा (युवा) के सदस्यों ने बताया कि जिले में इसाई मिशनरियों की ओर से हिदू धर्म के लोगों को बहकाकर धर्म परिवर्तन के लिए जोर दिया जा रहा है। इसे क्षत्रिय महासभा बर्दाश्त नहीं करेगा। अंकित सिंह, अमन सिंह, खरमण्डल सिंह, आदित्य सिंह, प्रीतम सिंह, भोलू सिंह, प्रदीप सिंह आदि थे।

Posted By: Jagran