जागरण संवाददाता, सैदपुर (गाजीपुर) : औड़िहार से नसीरपुर तक फोरलेन को जोड़ने वाली पुरानी एनएच-29 सड़क जगह-जगह क्षतिग्रस्त होकर गड्ढे में तब्दील होने से आमजन की यात्रा कष्टकारी हो गई है। सड़क के गड्ढ़ों से तो लोग परेशान हैं ही रही सही कसर सड़क पर उड़ रही धूल पूरी कर दे रही है।

एनएचएआइ से सड़क के मरम्मत के लिए धनराशि लोक निर्माण विभाग को भेज दी गई है लेकिन धन जारी होने के छह माह बाद भी सड़क मरम्मत का कार्य शुरू नहीं हो सका है। इस मार्ग से कस्बा के अलावा तीन दर्जन से अधिक गांवों के ग्रामीणों का आना जाना है।

बता दें कि पीएनसी से फोरलेन का निर्माण कार्य शुरू कराया गया तो करार था कि फोरलेन बनने के बाद औड़िहार से नसीपुर तक सड़क की मरम्मत कराकर तब एनएचएआइ को हैंडओवर किया जाएगा। फोरलेन का निर्माण कमोवेश पूर्ण होने के बाद पीएनसी से इस सड़क की मरम्मत के लिए तय राशि को एनएचएआइ को वापस कर दिया गया। नगर के वार्ड संख्या 13 निवासी सामाजिक कार्यकर्ता प्रदीप जायसवाल ने एनएचएआइ को पत्रक भेजने पर इस बात का पता चला। एनएचएआइ से वर्ष 2021 में बारिश के बाद इस सड़क की मरम्मत कराने की जानकारी प्रदीप जायसवाल को लिखित रूप से दी गई। बारिश बीतने के बाद भी मरम्मत न होने पर प्रदीप जायसवाल ने पुन: पत्राचार किया तो जवाब मिला कि सड़क व नाली बनाने के लिए धनराशि लोक निर्माण विभाग को भेज दिया गया है। लोक निर्माण विभाग वाराणसी के चीफ इंजीनियर संजय तिवारी ने बताया कि रुपये लोक निर्माण विभाग गाजीपुर को भेज दिया गया है। शीघ्र ही मरम्मत कार्य शुरू होगा। यह जवाब मिलने के छह माह बाद भी सड़क मरम्मत का कार्य शुरू नहीं हो सका। प्रदीप जायसवाल ने बताया कि पीडब्ल्यूडी विभाग गाजीपुर से पत्राचार करने पर जवाब मिला कि निविदा की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। शीघ्र निविदा कराकर सड़क मरम्मत का कार्य शुरू कराया जाएगा। बता दें कि औड़िहार से नसीरपुर तक सड़क क्षतिग्रस्त होकर गड्ढे में तब्दील हो गई है। आए दिन लोग गिरकर घायल होते रहते हैं। दिनभर धूल उड़ता रहता है जिससे लोग इस सड़क पर आने से परहेज करने लगे हैं लेकिन कोई और रास्ता न होने से इस सड़क से आवाजाही मजबूरी है। प्रदीप जायसवाल का कहना है कि विभाग की शिथिलता के चलते सड़क नहीं बनी।

वर्जन

सैदपुर से नसीपुर तक सड़क मरम्मत कार्य के लिए करीब दो करोड़ से अधिक की धनराशि आ गई है। टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर शीघ्र टेंडर कराकर मरम्मत कराई जाएगी।

-एसपी बौद्ध, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग प्रांतीय खंड, गाजीपुर।

Edited By: Jagran