जासं, कासिमाबाद (गाजीपुर) : कोतवाली क्षेत्र के धरवारकला गांव स्थित पोखरे में शनिवार को नहाते समय मनीष कुमार (15) की डूबकर मौत हो गई। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद शव निकाला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा करके परिजनों को सुपुर्द कर दिया। इधर हादसे की जानकारी होते ही परिजनों में कोहराम मच गया।

परिजनों ने बताया कि मनीष कुमार कभी पोखरे के तरफ नहीं जाता था। अचानक आज वह स्नान करने चला गया। पोखरे में नहाते समय गहरे पानी में चला गया व डूबने लगा। यह देख आस-पास खेल रहे छोटे बच्चों ने घटना की जानकारी ग्रामीणों को दी। जब-तक गांव के लोग मौके पर पहुंचते किशोर डूब चुका था। वह दो भाइयों और एक बहन में दूसरे नंबर पर था।  उसके पिता अशोक कुमार अपना निजी ट्रक चलाते हैं। मनीष की मौत से मां मीना देवी सहित परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

-

मिट्टी निकालने से गहरी हो गई है पोखरी

धरवारकला गांव स्थित सती मां का पोखरा लगभग 30-35 बीघे में फैला हुआ है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए कार्यदायी संस्था द्वारा पोखरे से मिट्टी निकालने के चलते काफी गहरा हो गया है। इसके अलावा अन्य जेसीबी संचालकों ने भी पोखरे से मिट्टी निकाल कर उसको और भी गहरा बना दिया है। ग्राम प्रधान सुरेंद्र यादव ने बताया कि अभी भी जेसीबी संचालक पोखरे से मिट्टी निकालने से बाज नहीं आ रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस