जागरण संवाददाता, कासिमाबाद (गाजीपुर) : बरेसर थाना क्षेत्र के हुसैनाबाद निवासी कृष्णा ठाकुर (20) की प्रेम प्रपंच में लाठी से मारकर हत्या की गई थी। इसका राजफाश शनिवार को थानाध्यक्ष राजेश बहादुर सिंह ने किया। पिता हरेराम की तहरीर पर एफआइआर दर्ज करते हुए पुलिस ने कृष्णा की प्रेमिका, उसके भाई समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इसमें एक आरोपित ग्राम प्रधान भी है।

बरेसर थानाध्यक्ष आरबी सिंह ने बताया कि बीते 20 अक्टूबर को कृष्णा ठाकुर का शव एक खड़ंजे पर मिला था। शुक्रवार को कृष्णा के पिता हरेराम ने पुलिस से शिकायत की कि उसके पुत्र की हत्या की गई है। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने तत्काल एफआइआर दर्ज कर सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पुलिस को मालूम हुआ कि कृष्णा का बरेसर थाना क्षेत्र के ही एक गांव निवासी युवती से प्रेम संबंध था। वह अक्सर मिलने के लिए आता रहता था। इसकी जानकारी प्रेमिका के स्वजन को हो गई थी। कई बार कृष्णा को मना भी किया, लेकिन वह नहीं माना। 20 अक्टूबर की रात में युवती के भाई ने अपने बहन पर दबाव बनाया और कृष्णा को बुलवाया। कृष्णा जैसे ही युवती से मिलने के लिए आया, उसके भाई ने लाठी से कृष्णा के सिर पर जोरदार प्रहार कर दिया। इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद शव को वहां से करीब 25 मीटर दूर खंड़जे पर फेंक दिया। मामले में सुनील चौरसिया, सौदागर चौरसिया और प्रविद्र वर्मा उर्फ लड्डू तथा प्रेमिका को शनिवार को जेल भेज दिया। ---

इकलौते पुत्र की हत्या से छिना सहारा

पांच बहनों के बीच अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र कृष्णा घर पर ही रहकर पिता के काम में हाथ बंटाता था। परिवार के लोगों का कहना है कि कोई बात थी तो कहना चाहिए था। ऐसे जान लेकर क्या मिला उन्हें।

हत्या में शामिल था ग्राम प्रधान

कृष्णा ठाकुर की हत्या में प्रेमिका के भाई व दोस्तों संग भोपतिपुर के ग्राम प्रधान प्रविद्र वर्मा भी शामिल था, जो जेल चला गया है। इसको लेकर ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं।

Edited By: Jagran