जागरण संवाददाता, भदौरा (गाजीपुर) : सड़क सुरक्षा नियमों को ताक पर रखकर जुगाड़ वाहन सड़कों पर धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं। जुगाड़ वाहनों में ओवरलोड सामान ढोए जा रहे हैं, जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

सेवराई तहसील के सतरामगंज बाजार से रोजाना जुगाड़ वाहनों में सामान भरकर देवल, अमौरा, नवली, उतरौली, सायर, करहियां गांव के अलावा बिहार के चौसा से बारा, कुतुबपुर, मगरखाई, भतौरा आदि गांवों में पहुंचाया जा रहा है। ताड़ीघाट-बारा मार्ग पर जुगाड़ वाहन बहुतायत में दौड़ते देखे जा सकते हैं। क्षेत्रवासियों का कहना है कि इन वाहनों से प्रदूषण भी अधिक फैल रहा है। इन वाहनों में कोई पार्ट भी ठीक से काम नहीं करता।

इन्हें स्टार्ट करने पर काफी मात्रा में धुआं निकलता है। इससे आसपास खड़े लोग दूर होने पर विवश हो जाते हैं। इन वाहनों की आवाज भी काफी तेज होती है। इनके ब्रेक भी इतना कमजोर होता है कि आए दिन कहीं न कहीं इन वाहनों के टक्कर मारने की सूचना मिलती रहती है।

ऐसे वाहनों के चलाने वाले चालकों के पास किसी तरह का कोई कागजात भी नहीं है, लेकिन पुलिस व परिवहन विभाग ऐसे वाहनों की जांच नहीं करता। दूसरी ओर से सड़कों पर 20 वर्ष से भी अधिक पुराने वाहनों का परिचालन हो रहा है। कई खटारा वाहन दिनभर सड़कों पर सवारी लेकर चलाए जा रहे हैं। इससे अक्सर दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

रास्ते के विवाद में दो पक्षों में मारपीट

कासिमाबाद (गाजीपुर) : कोतवाली क्षेत्र के कटया लहंग गांव में भीटे के जमीन पर रास्ते के विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। एक पक्ष से मनोज पांडेय का आरोप है कि मारपीट में बंदूक के नाल से पीटने के साथ ही फायरिग भी की गई। दूसरे पक्ष के रत्नेश पांडेय ने बताया कि हमारे एक साथी को यह लोग मारपीट रहे थे। इस मारपीट की घटना में कुल आठ लोग चोटिल हुए हैं। प्रभारी थानाध्यक्ष फूलचंद पांडेय ने फायरिग की घटना से साफ इनकार किया है। बताया कि मनोज पांडेय ने छह लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।

हिस्ट्रीशीटर पिस्टल के साथ गिरफ्तार

मरदह (गाजीपुर) : थाना क्षेत्र के रायपुर के पास से स्थानीय पुलिस ने बहरियाबाद थाने के हिस्ट्रीशीटर राममनोहर यादव को पिस्टल के साथ धर दबोचा। एसआइ सुरेश मौर्या ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि सलेमपुर निवासी हिस्ट्रीशीटर राममनोहर रायपुर के पास खड़ा है। इस पर टीम तत्काल मौके पर पहुंची और उसे दबोच लिया। आवश्यक कार्रवाई के बाद उसे जेल भेज दिया गया।

Edited By: Jagran