जासं, मुहम्मदाबाद (गाजीपुर) : वाराणसी सिटी से छपरा तक शुरू हुई मेमू सवारी गाड़ी ने पहले ही दिन यात्रियों को घंटों इंतजार कराया। सुबह गई तो सही समय से लेकिन वापसी और दूसरे चक्कर में यह ट्रेन काफी विलंब से आई जिसके चलते यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। यही नहीं इस ट्रेन की सेवा शुरू किए जाने और दो अन्य ट्रेनों के बंद किए जाने से देर शाम को वाराणसी की ओर जाने के लिए ट्रेन का अभाव हो गया है।

रेलवे की ओर से वाराणसी सिटी छपरा तक यात्रा के लिए पूर्व में डीजल चालित सवारी गाड़ी संख्या 55013 अप व 55014 डाउन व डीएमयू सवारी गाड़ी अप 55131 व डाउन 55132 का परिचालन किया जा रहा था। डीजल इंजन की जगह रेलवे की ओर से सोमवार से ईएमयू सवारी गाड़ी संख्या 65103 व 65104 तथा 65105 व 65106 का परिचालन शुरू किया गया। उक्त ट्रेन के चलने से वाराणसी से सुबह चलने वाली 55013 व छपरा से शाम को चलने वाली 55014 का परिचालन के साथ साथ दोपहर में जाने वाली डीएमयू 55131 व 55132 सवारी गाड़ी का परिचालन पूरी तरह से बंद कर दिया गया। सोमवार को सुबह ईएमयू ट्रेन अपने नियत समय पर गई लेकिन उसके बाद के फेरों में छपरा की ओर से दोपहर में नियत समय से करीब तीन घंटा तो रात में करीब पांच घंटा के आसपास विलंब से यूसुफपुर स्टेशन से वाराणसी के लिए रवाना हुई। इस ट्रेन का परिचालन शुरू होने के बाद शाम करीब छह बजे यूसुफपुर स्टेशन से वाराणसी सिटी के लिए मिलने वाली डाउन सवारी गाड़ी का परिचालन न होने से अब यात्रियों की मुसीबत बढ़ गई है।हालत यह है कि अब दोपहर ईएमयू के 12.34 मिनट के बाद वाराणसी की ओर जाने के लिए सीधे रात करीब 8.30 बजे जाने वाली पवन एक्सप्रेस ही मिलेगी। वहीं बीच के स्टेशनों की यात्रा के लिए लोगों को रात करीब 9.36 बजे तक ईएमयू ट्रेन का इंतजार करना पड़ेगा। करीब आठ घंटे के अंतराल पर वाराणसी की ओर जाने के लिए कोई ट्रेन न होने से इस क्षेत्र के लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस