जासं, मुहम्मदाबाद (गाजीपुर) : शेरपुर खुर्द में चल रहे भागवत कथा के तीसरे दिन शुभारंम यज्ञाचार्य डा. अशोक कुमार पांडेय  ने किया। कथा वाचक डा.श्रीधर ओझा ने प्रवचन करते हुए कहा कि अत्याचारी राजा हिरण्यकश्यप के अत्याचार से प्रजा बहुत दुखी थी। धर्म पर कुठाराघात देख कर नारायण ने वामन अवतार लिया और अत्याचारी राजा का वध किया। कहा कि जब जब धरा पर दुष्टों का प्रभाव बढ़ता है तब तब नारायण किसी न किसी रूप में अवतरित होते हैं। कहा कि नारायण तो हमेशा भक्तों के बस में ही रहते हैं। कहा कि जब हम सच्चे मन से भगवान को याद करेंगे तो वह हमारी सहायता अवश्य करेंगे। लोगों से हमेशा समाज हित के लिए कार्य करने का आह्वान किया। मौके पर डा.राकेश शुक्ला,डा. चंद्रशील त्रिपाठी,सतेन्द्र राय,ओमप्रकाश राय,पारसनाथ राय,विमलेश मिश्रा,गायक सुनील सम्राट,कमलेश कुमार,विमलेश राय आदि थे। आगंतुकों के प्रति आभार आयोजक पारस नाथ राय ने ज्ञापित किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप