Move to Jagran APP

Paras Nath Rai Interview: गाजीपुर सीट से BJP प्रत्याशी ने दैनिक जागरण से की बातचीत, चुनौती व विकास समेत कई मुद्दों पर की चर्चा

Paras Nath Rai Interview गाजीपुर संसदीय सीट पर पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मुरझाया कमल इस बार खिलाने की जिम्मेदारी शिक्षक पारस नाथ राय ( Paras Nath Rai) पर है। वह बेबाक बोलते हैं कि बच्चों को पढ़ाने के दौरान कक्षा में कभी अनुपस्थित नहीं रहे। मौका मिलने पर पिछले सांसद की तरह वह कभी संसद में भी गैरहाजिर नहीं रहेंगे। पारस नाथ से बातचीत के प्रमुख अंश-

By Shivanand Rai Edited By: Riya Pandey Wed, 29 May 2024 05:57 PM (IST)
Paras Nath Rai Interview: गाजीपुर सीट से BJP प्रत्याशी ने दैनिक जागरण से की बातचीत

जागरण संवाददाता, गाजीपुर। Paras Nath Rai Interview: गाजीपुर संसदीय सीट पर पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मुरझाया कमल इस बार खिलाने की जिम्मेदारी शिक्षक पारस नाथ राय ( Paras Nath Rai) पर है। वह बेबाक बोलते हैं कि बच्चों को पढ़ाने के दौरान कक्षा में कभी अनुपस्थित नहीं रहे। मौका मिलने पर पिछले सांसद की तरह वह कभी संसद में भी गैरहाजिर नहीं रहेंगे। तत्कालीन रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के कार्यकाल के बाद पिछले पांच साल में रुके विकास का पहिया दौड़ाया जाएगा। उनसे बातचीत के प्रमुख अंश-

पहली बार आपको सांसद का टिकट मिला है?

देखिए, यह सही है कि मैंने कोई चुनाव नहीं लड़ा है। लेकिन मैं संघ में विभिन्न दायित्वों को निर्वहन कर चुका है। आज तक कोई ऐसा चुनाव नहीं है, जिसे करीब से नहीं देखा हूं। भाजपा का हर कार्यकर्ता मुझे जानता है। संगठन के बूते मैं पूरी मजबूती से चुनाव लड़ रहा हूं।

अफजाल अंसारी जैसे राजनीतिज्ञ से कैसे मुकाबला कर रहे हैं?

पांच बार विधायक व दो बार सांसद रहने वाले अफजल अंसारी का पहली बार मुझसे पाला पड़ा है। उनके भीतर एक कला पार्टी बदलने की है। कभी सपा तो कभी बसपा का पाला थामते हैं। पूरी दमदारी के साथ मुकाबला कर रहा हूं और सफलता भी मिलेगी।

यहां जातिगत वोट बैंक के आधार पर चुनाव होता है। 2019 में तत्कालीन रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा विकास कराने के बावजूद हार गए। वर्ष 2022 के विधान सभा चुनाव में भी भाजपा हार गई। आप इतने बड़े वोटों के अंतर को कैसे पाटेंगे?

पिछले चुनाव में मनोज सिन्हा को विकास के कारण 2014 के चुनाव से डेढ़ लाख वोट अधिक मिले। तब सपा- बसपा गठबंधन था। आज परिस्थिति बदली है। काफी संख्या में यादव मतदाता भाजपा से जुड़ा है। सुभासपा मजबूती से हमारे साथ है। इससे पहले वर्ष 2004 का चुनाव अफजाल अंसारी कैसे जीते थे। यह सबको पता है। मतदान के दिन सुबह से ही भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएं होने लगी थी। तब सपा सरकार में जंगलराज था, आज योगी सरकार में कानून का राज है।

यह भी पढ़ें: Shashank Mani Tripathi Interview: देवरिया सीट से BJP प्रत्याशी ने दैनिक जागरण से की बातचीत, प्राथमिकताओं व रणनीति पर की चर्चा

आपके निगाह में गाजीपुर जिले के विकास का मॉडल क्या है? प्राथमिकता क्या होगी?

मनोज सिन्हा के विकास के मॉडल को आगे बढ़ाना ही प्राथमिकता होगी। अंधऊ हवाई पट्टी से अगर हवाई सेवा शुरू हो जाती तो आज लोगों को लाभ मिलता। उनके विकास को आगे बढ़ाया जाएगा।

आपकी जीत का आधार क्या है?

हर समाज का समर्थन और भाजपा कार्यकर्ताओं की मेहनत से जीत मिलेगी। पिछले पांच साल में जनता ने सांसद का मुंह नहीं देखा। विकास कार्य रुक गए। जनता को मनोज सिन्हा की हार का मलाल रहा। लोग खुद कह रहे हैं कि इस बार पिछली गलतियां नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: Akhilesh Pratap Singh Interview: देवरिया से कांग्रेस प्रत्याशी की दैनिक जागरण से बातचीत, चुनौती व विकास समेत अन्य मुद्दों पर बोले