जासं, गाजीपुर : अब दिव्यांग व आयु प्रमाण-पत्र के साथ निजी अस्पतालों के पंजीकरण के अलावा असफल नसबंदी दावा एवं चिकित्सा क्षतिपूर्ति के लिए स्वास्थ्य विभाग का चक्कर नहीं काटना पड़ेगा। इन सभी सेवाओं के लिए शासन की ओर से जनहित गारंटी योजना पोर्टल का शुभारंभ किया गया है। घर बैठकर व किसी भी साइबर कैफे से पोर्टल पर आवेदन कर इसका लाभ प्राप्त किया जा सकता है। यही नहीं, स्वास्थ्य विभाग की ओर से इस आनलाइन सिस्टम को पूर्ण रूप से सफल बनाने कवायद तेज कर दी गई है।

इस पोर्टल पर लंबित पड़े आवेदनों का निर्धारित समय के अंदर निस्तारण करने के लिए भी शासन की ओर से सख्त दिशा-निर्देश जारी किया गया है, जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। निजी अस्पतालों के पंजीकरण के लिए जहां संचालकों को कई दिनों तक कार्यालय का चक्कर काटना पड़ता है वहीं असफल नसबंदी व चिकित्सा क्षतिपूर्ति के लिए पीड़ितों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। उनकी समस्या का निस्तारण जल्द नहीं हो पाता है। इसके अलावा दिव्यांग व आयु प्रमाण-पत्र के लिए लोगों को घंटों लाइन में खड़ा होकर इंतजार करना पड़ता है। अब इसके लिए लोगों को स्वास्थ्य विभाग के कार्यालयों का चक्कर नहीं काटना पड़ेगा। जनहित गारंटी योजना पोर्टल पर वे आसानी से आवेदन कर एक माह के अंदर आसानी से प्रमाण-पत्र प्राप्त कर सकते हैं। इस संबंध सीएमओ डा. जीसी मौर्या ने बताया कि जनहित गारंटी योजना पोर्टल पर आवेदन कर आसानी से पांच सेवाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

Posted By: Jagran