जागरण संवाददाता, गाजीपुर (कासिमाबाद) : कोतवाली क्षेत्र के सुरवत स्थित कौशिक महाविद्यालय के सामने सलामतपुर सिधागर मार्ग पर रविवार की देर रात भूमि विवाद में अवराकोल निवासी छोटेलाल राम (55) को छोटे भाई व भतीजों ने जलाकर मौत के घाट उतार दिया। बेटे आशुतोष कुमार बौद्ध की तहरीर पर कुल सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित फरार हैं। छोटेलाल ने भी मौत से पहले पुलिस को दिए अपने बयान में सबसे छोटे भाई व भतीजों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया।

छोटेलाल के पैतृक जमीन का विवाद वर्षों से चला आ रहा है। रविवार को विपक्षीगण बाउंड्री का निर्माण करा रहे थे। इस पर छोटेलाल ने रोका तो विवाद हो गया। ऐसे में वह एसडीएम व कोतवाल से कागजात के साथ निर्माण कार्य पर रोक लगाने की गुहार लगाते हुए बाइक द्वारा दवा लेने के लिए मऊ चला गया। आरोप है कि रात वापसी में घर से करीब दो किलोमीटर दूर पहले से घात लगाए छोटे भाई अच्छेलाल ने बेटों धीरेंद्र प्रताप बौद्ध व राघवेंद्र प्रताप बौद्ध के साथ मिलकर सुरवत में रोक लिया और मारपीट करने लगे। इसके बाद साथ में ले गए पेट्रोल को छिड़ककर आग लगा दी। आग का गोला बने छोटेलाल की चीख-पुकार से आरोपित मौके से भाग निकले। इधर, फोन से सूचना मिलने पर पहुंचे स्वजन आनन-फानन में उसे लेकर मऊ सदर अस्पताल में भर्ती कराए। वहां स्थिति गंभीर होने के बाद चिकित्सकों ने वाराणसी के लिए रेफर कर दिया। रास्ते में ले जाते समय ही उसकी मौत हो गई। अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राजधारी चौरसिया ने घटना की जानकारी ली। पुत्र आशुतोष कुमार बौद्ध ने चाचा अच्छेलाल राम उनके पुत्रों धीरेंद्र प्रताप बौद्ध व राघवेंद्र प्रताप बौद्ध पर पर पेट्रोल छिड़ककर जलाकर मार डालने व पूर्व प्रधान ओम प्रकाश राम, आदित्य कुमार गोल्डन, रामबिलास राजभर व एक अज्ञात निवासी साधापुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।