जागरण संवाददाता, बारा (गाजीपुर) : लॉकडाउन में अंतरप्रांतीय सीमा सील होने के बावजूद बारा एवं देवल कर्मनाशा पुल के जरिए बिहार से बालू लदे ओवरलोड ट्रक जिले में धड़ल्ले से पहुंच रहे हैं। लगातार मिल रही शिकायत के बाद एसडीएम सेवराईं विक्रम सिंह ने बालू लदे ओवरलोड ट्रकों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने देवल पुल पर जांच के दौरान शुक्रवार को छह ट्रकों का ई-चालान किया। इससे बालू माफियाओं में हड़कंप मच गया।

विभागीय अधिकारियों, कर्मचारियों व पुलिस से मिलीभगत कर दलाल ट्रकों को पास करा रहे हैं। इससे जिला प्रशासन को रोजाना लाखों रुपये तक राजस्व की क्षति हो रही है। जबकी दलालों की जेब में मोटी रकम पहुंच रही है। बता दें कि प्रदेश में ओवरलोड वाहनों का संचालन पूरी तरह से प्रतिबंधित है लेकिन बिहार सरकार की ओर से जारी किए गए कागजातों पर बालू लदे ट्रक बारा तथा देवल कर्मनाशा पुल से होते हुए जिले में पहुंच रहे हैं।  कागजातों पर 50 से 60 टन तक ही भार लादने की क्षमता भी अंकित होता है लेकिन क्षमता से अधिक वजन लादकर ट्रक चालक जिले की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं। उपजिलाधिकारी सेवराईं विक्रम सिंह ने कहा कि शासन द्वारा रजिस्टर्ड वाहनों को ही जिले की सीमा में प्रवेश करने की अनुमति होगी। उनके आड़ में यदि दूसरे वाहन प्रवेश करते हैं तो उनपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस