जागरण संवाददाता, भदौरा (गाजीपुर) : गहरम थाना क्षेत्र के बारा बस स्टैंड के समीप नशेड़ी मामा अमजद खां ने गुरुवार की शाम मासूम भांजे दानियाल (3) की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। हत्या के बाद भाग रहे अमजद को आसपास के लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह और एएसपी ग्रामीण आरडी चौरसिया ने मौके पर पहुंचकर स्वजन से आवश्यक जानकारी ली। उसके मानसिक हालत के ठीक न होने व नशा करने की बात कही जा रही है। हालांकि यह जांच का विषय है।

स्वजन के मुताबिक शाम करीब पांच बजे अमजद खां गांजा व भांग के नशे में घर में सो रहा था। अचानक उठा तो घर के आंगन में खेल रहे दिलदारनगर थाना क्षेत्र के मिर्चा निवासी भांजे दानियाल को कमरे में ले गया। वहां पलंग पर लिटाकर चाकू से गला रेतकर उसको मौत के घाट उतार दिया। इसकी जानकारी दानियाल की मां शबाना खातून सहित परिवार के अन्य सदस्य को हुई तो कोहराम मच गया। चीख-पुकार सुनकर आसपास मौजूद लोग जब घर में पहुंचे तो नजारा देख कर सन्न रह गए। भागते समय घर के लोगों ने हत्यारा कहकर शोर मचाना शुरू किया तो लोगों ने उसे पकड़ लिया। सूचना पर कुछ देर बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। सभी के जुबान पर बस यही था कि ऐसा कंश मामा फांसी के सजे का हकदार है। प्रभारी निरीक्षक त्रिवेणीलाल सेन ने बताया कि कोई भी तहरीर देने की हालत में नहीं है। तहरीर मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

---

तीन भाई-बहनों में छोटा था दानियाल

तीन भाई-बहनों में छोटा दानियाल अपनी मां के साथ कुछ समय से मामा के घर रह रहा था। दोनों बहनें बड़ी हैं। पिता अमजद मुंबई रहकर प्राइवेट काम करते हैं। इन दिनों वह अपने घर आए हुए थे। सूचना पर वह अन्य लोगों के साथ मौके पर पहुंच गए। लोग उन्हें ढांढस बंधाते रहे।

---

- सगे भांजे को चाकू से मौत के घाट उतारने वाले अमजद को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

-रामबदन, पुलिस अधीक्षक।

Edited By: Jagran