जासं, बिरनो (गाजीपुर) : गोवंश आश्रय केंद्र पर पशुओं को छोड़ने में अधिकारी मनमानी रहे हैं। ऐसे में सैकड़ों पशु एनएच-29 को ही ठिकाना बना लिए हैं। इसके विरोध में किसानों ने सोमवार को भड़सर बाजार में प्रदर्शन कर एनएच-29 को जाम कर दिया। इस दौरान नारेबाजी कर आक्रोश जताया। तीन घंटे बाद दोपहर दो बजे सदर नायब तहसीलदार व बिरनो थानाध्यक्ष वसीम खान पहुंचे। अधिकारी द्वय ने पशुओं को आश्रय केंद्र पर पहुंचाने के लिए एक सप्ताह की मोहलत मांगी। सड़क कर दोनों तरफ वाहनों की दो किलोमीटर तक लंबी कतार लगी रही। आश्वासन पर किसान लौट गए।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा (युवा)के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह के नेतृत्व में किसान भड़सर बाजार में पहुंचे। इस दौरान नारेबाजी कर प्रशासन के खिलाफ आक्रोश जताया। उनका कहना था कि एनएच पर ही 200 से अधिक पशु महीनों से ठिकाना बना लिए हैं। आए दिन फसलों को नुकसान करते हैं। हादसे भी होते रहते हैं। राजकुमार सिंह ने बीडीओ रामविलास को पशुओं की व्यवस्था करने के लिए रविवार तक का अल्टीमेटम दिया था। फसल बर्बाद होने पर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा और सड़क पर उतर आए। उनका कहना था कि प्रदेश सरकार बेसहारा पशुओं की सुरक्षा की बात कर रही है लेकिन अधिकारी इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। पशुओं को आश्रय केंद्रों पर नहीं पहुंचाया जा रहा है। बीच सड़क पर ही पशु बैठ जाते हैं। इसके चलते हादसे होते रहते हैं। इनके स्थाई समाधान के लिए ब्लाक मुख्यालय से जिला प्रशासन तक कई गुहार लगाई लेकिन अब तक समस्या का समाधान नहीं हुआ। रास्ता जाम करने वालों में गोलू सिंह, अमित सिंह, सूरज सिंह, रानू सिंह, भीम सिंह, शेषनाथ सिंह, भानु सिंह, अंकित सिंह, दया सिंह, अजय सिंह आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस