गाजीपुर (जेएनएन): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार की शाम 5.34 मिनट पर चीतनाथ घाट किनारे 'नमो एप' के जरिए जिले के कार्यकर्ताओं से संवाद किया। इस क्रम में वह करीब 15 मिनट तक मुखातिब रहे। उन्होंने कार्यकर्ताओं के सवालों के जवाब भी दिए और सबको संकल्प दिलाया कि कभी अंहकार नहीं करेंगे।

प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं को उनके दायित्वों का बोध कराया और आयुष्मान योजना के लिए गाव के प्रशासन से जुड़कर इसका लाभ दिलाने का आह्वान किया। वह जैसे ही जिले के कार्यकर्ताओं से संवाद को मुखातिब हुए उनके नाम के नारे लगने लगे। सभी कार्यकर्ताओं ने 'हर हर महादेव' के जयकारे से उनका जोरदार स्वागत किया।

जिला मंत्री सरोज मिश्रा ने सवाल किया कि आयुष्मान योजना को शुरू हुए दो-चार सप्ताह हुए, इसे आप कैसे देख रहे हैं, इससे कैसे लोगों की मदद हो रही है?

पीएम ने जवाब दिया कि आयुष्मान भारत योजना से अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल रहा है। अति गरीब परिवार के लोग लाभान्वित हो रहे हैं। इससे मुझे बहुत ही सुखद एहसास हो रहा है। हम कार्यकर्ताओं से अपेक्षा रखते हैं कि आप गाव के प्रशासन से जुड़िए। पूरे देश में 10 करोड़ लोगों को हमारा पत्र गया है। जिसके पास नहीं पहुंचा है वहा पहुंचने ही वाला होगा। आप इनके घर जाइए और परिवार के मुखिया व उस पत्र को लेकर अस्पताल जाइए और उन्हें गोल्ड कार्ड दिलाइए। प्रधानमंत्री ने अपना अनुभव शेयर करते हुए कहा कि उन्हें बहुत संतोष हो रहा है। जो परिवार पैसे के अभाव में अपना इलाज नहीं करा सकता था आज वही इलाज मुफ्त में करा रहा है। विरोधियों ने इसका मजाक भी उड़ाया। इसका मुझ पर कोई असर नहीं है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि गुजरात के एक मरीज की किडनी खराब थी। इलाज के लिए डाक्टरों ने एक लाख का खर्च बताया। आयुष्मान योजना से वही इलाज उसने फ्री में कराया। 60 वर्षीय वृद्ध को ब्रेन ट्यूमर था। उसने उम्मीद छोड़ दी थी लेकिन उसका भी इलाज फ्री में हुआ। उप्र में सात साल के बच्चे के दिल में छेद था। इलाज में तीन से चार लाख रुपये का खर्चा था। उसका भी फ्री में इलाज हुआ। ऐसी कई घटनाएं हैं जिनकी हम कल्पना भी कर सकते हैं। गरीब सशक्त होगा तभी हमारा देश सशक्त हो सकेगा। सदर पूर्वी मंडल अध्यक्ष अभय मौर्य ने सवाल किया कि भाजपा ने शून्य से शिखर तक की यात्रा की है, ऐसे में अब हम कार्यकर्ताओं का क्या दायित्व है? इस पर पीएम ने जवाब देते हुए कहा कि भाजपा की स्थापना सिर्फ सत्ता में आने के लिए नहीं हुई थी। देश सेवा और विकास के लिए हुआ था। अटल जी ने कहा था कि अंधेरा छंटेगा, सूरज निकलेगा और कमल खिलेगा। यह सही भी हुआ। सन 1984 में दो सीटें मिलीं और उसी पार्टी ने 2014 में 284 सीटों पर जीत दर्ज की। हम कश्मीर, कन्या कुमारी और कच्छ में भी हैं। हमारे कार्यकर्ता 24 घटे सातों दिन जनसेवा में जुटे रहते हैं। हम थकने पर विश्वास नहीं करते। हमारे कार्यकर्ताओं के कठोर परिश्रम ही परिणाम आज सामने है कि आज हम हर कोने में हैं। उन्होंने आह्वान किया कि आप अधिक से अधिक लोगों से जुड़िए। उनके सुख-दुख में साथ दें। जो बन सके वह करें। लोगों के साथ हमेशा विनम्र व्यवहार करें। अपने अंदर कभी अहंकार मत आने दीजिएगा। काग्रेस ने 50 वषरें तक राज किया लेकिन वह अंहकार में आ गई। उसी अहंकार का परिणाम है कि आज उनकी यह स्थिति है। आइए हम संकल्प लें कि हम अहंकार नहीं करेंगे। आपस में मिलकर देश और पार्टी को और मजबूत बनाएंगे। खुद की पहचान स्थापित कर गौरवान्वित करेंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस