जासं, गाजियाबाद : जिले में पिछले करीब हफ्ते भर से सता रही भीषण ठंड स्वास्थ्य पर भारी पड़ रही है। जो अभी हफ्ते भर ज्यादा सताने वाली है। शुक्रवार को तापमान ऊपर रहा, लेकिन पूरे दिन धूप नहीं निकलने और बादल छाए रहने की वजह से सर्दी काफी ज्यादा महसूस हुई। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार और रविवार को बारिश पड़ने के आसार हैं। जिसके बाद ठंड काफी ज्यादा बढ़ जाएगी।

दिसंबर और जनवरी सर्दी का महीना है, लेकिन हफ्तेभर से पड़ रही सर्दी से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। सर्दी में सबसे ज्यादा परेशानी बच्चों और बुजुर्गों को है। मौसम एवं कृषि विज्ञानी डा. डीके सचान ने बताया कि शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 18 डिग्री सेल्सियस रहा, लेकिन सुबह से कोहरा और पूरे दिन आसमान में बादल छाए रहने की वजह से सर्दी से राहत नहीं मिली। हवा छह किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चली। मौसम में आद्रता 98 फीसद रही। शनिवार को न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस रहेगा। शनिवार से रविवार बारिश या बूंदाबांदी होने से तापमान में गिरावट आएगी। मौसम विभाग के अनुसार फरवरी के पहले हफ्ते तक ही सर्दी से कुछ राहत होगी। सर्दी में ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बढ़ा, सतर्क रहें

तापमान गिरने के साथ ही ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बढ़ने लगा है। जिला एमएमजी अस्पताल की ओपीडी में रोज 50 से 70 मरीज सिर दर्द और चक्कर आने की शिकायत पर चिकित्सक के पास पहुंच रहे हैं। इनमें अधिकांश मरीजों की उम्र 50 वर्ष से लेकर 90 वर्ष के बीच है। वरिष्ठ फिजिशियन आरपी सिंह ने बताया कि सर्दी बढ़ने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है। बल्ड प्रेशर कम होने लगता है और ब्रेन स्ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में कम से कम आठ गिलास गरम पानी रोज पीना चाहिए। सांस रोग बढ़ने, जुकाम, खांसी और जुकाम के मरीज भी तेजी से बढ़ने लगे है। बच्चों में निमोनिया की शिकायत तेजी से बढ़ी है। ऐसे करें बचाव

सुबह उठते ही गर्म कपड़े पहने।

ताजा या गुनगुने पानी से स्नान करें।

रोज कम से कम आठ गिलास गर्म पानी पिएं।

मौसमी फलों और सब्जियों का भरपूर सेवन करें।

फ्रिज से कुछ भी निकलकर तुरंत न खाएं।

बहुत ज्यादा ठंडा खाने से बचें।

Edited By: Jagran