गाजियाबाद (जेएनएन)। सारा हत्याकांड मामले में विशेष सीबीआइ कोर्ट में सारा के भाई हर्ष कुमार सिंह की गवाही शुरू हो गई। अभी तक सारा की मां सीमा सिंह की गवाही चल रही थी। सुनवाई के दौरान निर्दलीय विधायक अमन मणि कोर्ट में पेश हुआ। हर्ष ने अदालत को बताया कि तलाक में खर्च न देना पड़े इसलिए अमन मणि ने उनकी बहन की हत्या कर दी।

सीमा सिंह के अधिवक्ता नवनीत त्यागी ने बताया कि बृहस्पतिवार को कोर्ट में करीब डेढ़ घंटे तक सुनवाई हुई। सीमा सिंह की गवाही पूरी होने के बाद कोर्ट में पहली बार सारा का बड़ा भाई हर्ष कुमार सिंह पेश हुआ। हर्ष ने अदालत को बताया कि उन्होंने सारा के शव पर चोट के निशान देखे थे। उसके गले पर रस्सी के निशान थे।

अदालत को बताया कि अमन मणि द्वारा सारा के साथ मारपीट के चलते गर्भपात हुआ था। हर्ष ने अदालत को बताया कि उनकी बहन ने कई बार कहा था कि वह अमन मणि से उसका तलाक करा दे।

अधिवक्ता नवनीत के अनुसार, हर्ष ने अदालत को बताया कि अमन मणि को डर था कि अगर उसका सारा से तलाक होता है तो उसे सारा को मासिक खर्च के रूप में बड़ी रकम चुकानी पड़ेगी। अमन मणि सारा पर शक करता था। वह उसकी कॉल डिटेल्स चेक कराता था।

वहीं, अमन मणि के वकीलों ने भी हर्ष से सवाल-जवाब किए। कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई के लिए 24 अगस्त की तारीख तय की है।

बता दें 9 जुलाई 2015 को अमन मणि और सारा कार से दिल्ली जा रहे थे। फिरोजाबाद में संदिग्ध परिस्थितियों में कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी, जिसमें सारा ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था, जबकि अमन मणि को खरोंच तक नहीं आई थी।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस