Move to Jagran APP

Ghaziabad News: गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट सोसायटी का बुरा हाल, स्विमिंग पूल चालू नहीं; लिफ्ट भी हैं बंद

गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट सोसायटी में असुविधाओं की भरमार है। बुनियादी सुविधाएं न मिलने से लोग बेहाल हैं। सोसायटी में कई कार्य अधूरे हैं उनको पूरा नहीं कराया जा रहा है। सोसायटी में आग से बचाव के लिए संसाधन पूरे नहीं है ज्यादातर लिफ्ट बंद पड़ी हैं। स्विमिंग पूल चालू नहीं है लगभग 10 ट्रांसफार्मर यहां पर हैं इनमें चार से अधिक फुंके हुए हैं।

By Abhishek Singh Edited By: Abhishek Tiwari Published: Sun, 12 May 2024 07:52 AM (IST)Updated: Sun, 12 May 2024 07:52 AM (IST)
सोसायटी अंतर्कथा: गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट सोसायटी में लोगों को नहीं मिल रही बुनियादी सुविधाएं।

जागरण संवाददाता, गाजियाबाद। सिद्धार्थ विहार स्थित गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट सोसायटी में रहने वाले लोगों को बुनियादी सुविधाओं का लाभ भी नहीं मिल रहा है। जिसकी मुख्य वजह अब तक आवास विकास परिषद द्वारा सोसायटी को पूरी तरह से आरडब्ल्यूए को हैंडओवर न किया जाना है।

सोसायटी में 95 प्रतिशत कार्य कराने के बाद ही आवास विकास परिषद द्वारा पजेशन दे दिया गया, जो कार्य अधूरे हैं उनको पूरा नहीं कराया जा रहा है।

गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट में की बंद पड़ी लिफ्ट l

सोसायटी में आग से बचाव के लिए संसाधन पूरे नहीं है, ज्यादातर लिफ्ट बंद पड़ी हैं। स्विमिंग पूल चालू नहीं है, लगभग 10 ट्रांसफार्मर यहां पर हैं, इनमें चार से अधिक फुंके हुए हैं, जिनको अब तक ठीक नहीं कराया गया है।

आग से बचाव के इंतजाम के लिए संसाधन पूरे नहीं।

इन समस्याओं को लेकर कई बार आवास विकास परिषद के अधिकारियों से वार्ता की गई, लेकिन अब तक समस्या का समाधान नहीं हो सका है। प्रस्तुत है अभिषेक सिंह की रिपोर्ट ...

साेसायटी को जानें

  • गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट सोसायटी को आवास विकास परिषद द्वारा विकसित कराया गया है।
  • 2011 में स्कीम निकाली गई थी।
  • 2016 से सोसायटी में पजेशन मिलना शुरू हुआ है।
  • सोसायटी में कुल 12 टावर में 1,292 फ्लैट हैं।
  • सोसायटी में रहने वाले परिवारों की संख्या 515 है।
  • सोसायटी में एक पार्क है, एक स्विमिंग पूल है। एक जिम है। एक क्लब हाउस है।

स्विमिंग पूल चालू नहीं।

सोसायटी की समस्याएं

  • इलेक्ट्रिसिटी की व्यवस्था दुरुस्त नहीं है।
  • आग से बचाव के संसाधन नाकाफी हैं।
  • 12 टावर में लगी 33 लिफ्ट में से 21 लिफ्ट बंद हैं।
  • स्विमिंग पूल में धूल जमी है।
  • सफाई व्यवस्था दुरुस्त नहीं है।
  • सोसायटी को पूरी तरह से आरडब्ल्यूए को हैंडओवर नहीं किया गया है।
  • सोसायटी के गंगा टावर में पुताई का कार्य पूरा नहीं किया गया है।

परेशानी पर दो टूक

सोसायटी में लगी ज्यादातर लिफ्ट खराब हैं। जिस कारण जो लिफ्ट चालू हैं, उन पर दबाव बढ़ जाता है। सभी लिफ्ट को चालू कराने का कार्य जल्द से जल्द किया जाना चाहिए।

- अनुपमा पाठक

सोसायटी में फायर फाइटिंग सिस्टम दुरुस्त नहीं है। आग से बचाव के लिए संसाधन नाकाफी हैं। ऐसे में यदि सोसायटी में आग लगने की घटना होती है तो उस पर काबू पाना मुश्किल होगा।

- दक्ष गोयल

साेसायटी में गंगाजल की आपूर्ति बिना बताए ही बंद कर दी जाती है। हम लोगों को पता ही नहीं चल पाता है कि किस दिन गंगाजल आएगा और किस दिन नहीं। ऐसे में परेशानी का सामना करना पड़ता है।

-भुवनेश्वर शर्मा

गर्मी का मौसम है, ऐसे में स्विमिंग पूल चालू नहीं किया गया है। सोसायटी में बना स्विमिंग पूल इस समय धूल फांक रहा है। हमारी शिकायत पर कोई संज्ञान नहीं लिया जाता है।

- अभिषेक सिंह

क्लब हाउस और स्विमिंग पूल से जुड़ी हुई समस्या जब हम आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों को बताते हैं तो वह कहते हैं कि अभी उनका हैंडओवर ही आवास विकास परिषद से नहीं मिला है। आविप के अधिकारी भी समस्या का समाधान नहीं करा रहे हैं।

- कुंतेश गौतम

सोसायटी में आग से बचाव के लिए जो बाक्स लगाए गए हैं, उनमें से किसी में पानी के लिए पाइप नहीं है तो किसी में अग्निशमन यंत्र नहीं है। अग्निशमन यंत्र की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए।

- प्रियंका

सोसायटी में सुरक्षाकर्मियों की संख्या भी कम है, यह संख्या बढ़ाई जानी चाहिए। 12 टावर की साेसायटी में सुरक्षा व्यवस्था एक समय में चार से पांच सुरक्षाकर्मी ही संभालते हैं।

- टीएन मेहरा

सोसायटी में पुताई का कार्य जो लंबित है, उसको पूरा कराया जाना चाहिए। इसके अलावा सुविधाएं बेहतर करने के लिए जरूरी है कि आवास विकास परिषद के अधिकारी भी यहां आकर समस्याएं सुनें।

- कीर्ति सिंह

इनकी है जिम्मेदारी

सोसायटी के लोगों की समस्याओं का समाधान कराने के लिए आवास विकास परिषद के अधिकारियों से वार्ता की गई है। जल्द ही इस संबंध में अधिकारियों से मुलाकात कर स्विमिंग पूल चालू कराने, लिफ्ट सही कराने और आग से बचाव के इंतजाम के लिए संसाधन पूरे कराने का कार्य किया जाएगा।

- यतेंद्र नागर, अध्यक्ष, गंगा यमुना हिंडन अपार्टमेंट रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.