गाजियाबाद (जेएनएन)। समाजवादी पार्टी में सियासी घमासान जारी है। आज सुबह लखनऊ में हुई सपा की बैठक में अखिलेश यादव और शिवपाल यादव ने अपना-अपना पक्ष तो रखा, लेकिन हालात में सुधार नहीं आता दिख रहा है।

सपा में मचे झगड़े पर प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रीय लोकदल (RLD) नेता और पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने इसे दुखद बताया है। गाजियाबाद में मौजूद रालोद के राष्ट्रीय महासचिव जयंत चौधरी ने कहा कि सपा में जो हो रहा है, वह राजनीति के लिए दुखद है।

अखिलेश व शिवपाल में नोंकझोंक, मुलायम से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री

इससे पहले आज सुबह लखनऊ में हुई समाजवादी पार्टी की बैठक में पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव पार्टी में लंबे समय से चल रही तनातनी से बेहद आहत हैं। पार्टी मुख्यालय में पहली बार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के साथ बैठे मुलायम सिंह यादव से इसका इजहार भी कर दिया।

सपा मुख्यालय में आयोजित बैठक में पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मैं पार्टी में तनातनी से बेहद आहत हूं।मुलायम ने अखिलेश से कहा कि तुम्हारी हैसियत क्या है। क्या अकेले चुनाव जीत सकते हो।

मुलायम ने कहा कि अगर बीजेपी की सरकार बन गयी तो तुम कभी सत्ता में नहीं आओगे। मुलायम सिंह ने कहा कि अमर सिंह ने मुझे जेल जाने से बचाया। अमर सिंह ने मुझे जेल जाने से बचाया, अमर सिंह नहीं बचाते तो मुझे सजा हो जाती।मुलायम ने अखिलेश से कहा कि शिवपाल तुम्हारे चाचा हैं, चाचा से गले मिलो। मुलायम ने अखिलेश और शिवपाल को गले मिलवाया।

इससे पहले बैठक में मुलायम ने कहा कि अभी मैं कमजोर नहीं हूं। जो उछल रहे हैं एक लाठी नहीं झेल नहीं पाएंगे। मैं तो लोहियाजी के रास्ते पर चलकर ही आगे बढ़ा। देश में इमरजेंसी के दौरान जेल में रहा। गरीबों तथा किसानों के लिए संघर्ष किया। संघर्ष में मैं जेल गया, कौन नहीं जानता,पार्टी बनाने में बहुत संघर्ष किया।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस