Move to Jagran APP

Ghaziabad Accident: तेज रफ्तार कैंटर ने मां और बीटेक छात्र को कुचला, बहन की दवा लेकर आ रहा था युवक

निवाड़ी थाना क्षेत्र में पटरी मार्ग पर हुए हादसे में तेज रफ्तार कैंटर की चपेट में आकर बाइक सवार युवक व उनकी मां की मौत हो गई। राजपाल का पुत्र आरडी इंजीनियरिंग कॉलेज में बीटेक अंतिम वर्ष का छात्र था। राजपाल की पुत्री विनेश की तबीयत लंबे समय से खराब चल रही है। उसका उपचार मेरठ के चिकित्सक से चल रहा है।

By Vikas Verma Edited By: Abhishek Tiwari Published: Mon, 10 Jun 2024 09:13 AM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 09:13 AM (IST)
Ghaziabad Accident: तेज रफ्तार कैंटर ने मां और बीटेक छात्र को कुचला

संवाद सहयोगी, मोदीनगर। निवाड़ी थाना क्षेत्र में पटरी मार्ग पर हुए हादसे में तेज रफ्तार कैंटर की चपेट में आकर बाइक सवार युवक व उनकी मां की मौत हो गई। दोनों मृतक मुरादनगर के बसंतपुर सैंथली गांव के रहने वाले थे। हादसे के बाद कैंटर चालक मौके से फरार हो गया।

पुलिस ने मौके पर जाकर शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने कैंटर को कब्जे में ले लिया है। हादसे के बाद मौके पर जाम के हालात पैदा हो गए। पुलिस ने जाम को खुलवाकर यातायात को सामान्य कराया। मुरादनगर क्षेत्र के बसंतपुर सैंथली गांव में राजपाल त्यागी अपने परिवार के साथ रहते हैं।

बहन की दवा लेकर आ रहा था युवक

राजपाल के परिवार में उनकी पत्नी अमिता 48, पुत्र रितिक 22 व पुत्री हैं। राजपाल का पुत्र आरडी इंजीनियरिंग कॉलेज में बीटेक अंतिम वर्ष का छात्र था। राजपाल की पुत्री विनेश की तबीयत लंबे समय से खराब चल रही है। उसका उपचार मेरठ के चिकित्सक से चल रहा है। रविवार सुबह रितिक अपनी मां अमिता के साथ बहन की दवा लेने के लिए मेरठ गया था।

वापसी के दौरान सुबह करीब आठ बजे पटरी मार्ग पर पैंगा गांव के निकट रितिक की बाइक पीछे से आते एक तेज रफ्तार कैंटर की चपेट में आ गई, जिसके चलते दोनों मां- पुत्र गंभीर रूप से घायल होकर बेहोश हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कैंटर द्वारा ओवरटेक करने के प्रयास में हादसा हुआ।

हादसे के बाद कैंटर चालक मौके से फरार हो गया। दोनों को मुरादनगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुचाया गया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

एक हादसे ने तिनका तिनका बिखर गए सपने

एक दिन पहले तक राजपाल त्यागी की आंखों में भविष्य के सुनहरे सपने थे। जवान बेटा इंजीनियर बनने की कगार पर था, जो कि कुछ महीने बाद नौकरी पा जाने वाला था। परिवार व रिश्तेदारों में बेटे की शादी को लेकर चर्चाएं शुरु हो गई थी। बीमार की बेटी की हालत भी धीरे धीरे सुधर रही थी।

आने वाले वर्ष परिवार के लिए उत्सवों व आयोजनों से भरपूर होने वाले थे, लेकिन पटरी मार्ग पर हुए हादसे ने राजपाल त्यागी के परिवार के साथ उनके सपनों को भी तिनका तिनका बिखेर दिया है। निर्दयी वास्तविकता के धरातल पर उनके कंधे पर जवान बेटे व जीवनसंगिनी के शव हैं, जिनके अंतिम संस्कार के कठोर दायित्व का निर्वाह उन्हें करना है।

अपनी पत्नी व पुत्र की याद में विलाप करते राजपाल की हालत देखकर प्रत्यक्षदर्शियों की भी आंखे नम हो गईं। वहीं राजपाल की पुत्री विनेश भी अपनी मां व भाई को याद करके रोते हुए बेसुध हो गईं।

हादसे के बाद पटरी मार्ग पर लगा जाम

हादसे के बाद कैंटर व बाइक के मलबा सड़क पर फैल गया, जिसके चलते वहां पर से वाहनों का आवागमन बाधित हो गया और जाम के हालात पैदा हो गए। कुछ ही देर में मौके पर वाहनों की कतार लग गईं। पुलिस टीम ने मौके पर जाम को खुलवाया। करीब 20 मिनट के बाद यातायात सामान्य हो सका।

पटरी मार्ग पर हुए हादसे के बारे में जानकारी मिली है। हादसे में युवक व उसकी मां की मौत हो गई है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। कैंटर को कब्जे में लेकर जांच शुरु कर दी है।

– ज्ञान प्रकाश राय, एसीपी, मोदीनगर


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.