Move to Jagran APP

Ghaziabad: लोनी विधायक को नहीं मिल रही सुरक्षा, CM योगी को कराएंगे अवगत; MLA बोले- राजनीति का अभ्यास कर रहे पुलिस कमिश्नर

Ghaziabad Crime News लोनी विधायक को पुलिस द्वारा सुरक्षा मुहैया कराने के दावे की पोल सोमवार को अपने आवास पर जनता दर्शन के दौरान खुद लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर ने 49 सेकेंड का एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर शेयर कर खोली है। जिसमें एक भी पुलिसकर्मी विधायक की सुरक्षा में तैनात नहीं दिखा निजी सुरक्षाकर्मी उनके आवास पर मौजूद दिखे।

By Abhishek Singh Edited By: Geetarjun Published: Tue, 11 Jun 2024 12:56 AM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 12:56 AM (IST)
लोनी के विधायक नंद किशोर गुर्जर के घर पर कोई भी सुरक्षाकर्मी नहीं है।सौ. विधायक

जागरण संवाददाता, गाजियाबाद। लोनी विधायक को पुलिस द्वारा सुरक्षा मुहैया कराने के दावे की पोल सोमवार को अपने आवास पर जनता दर्शन के दौरान खुद लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर ने 49 सेकेंड का एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर शेयर कर खोली है। जिसमें एक भी पुलिसकर्मी विधायक की सुरक्षा में तैनात नहीं दिखा, निजी सुरक्षाकर्मी उनके आवास पर मौजूद दिखे।

उन्होंने यह भी दावा किया है कि भविष्य में राजनीति में उतरने से पहले जिले में पुलिस कमिश्नर राजनीति का अभ्यास कर रहे हैं। लखनऊ जाकर जल्द ही पूरे प्रकरण से मुख्यमंत्री को अवगत कराएंगे।

विधायक ने लगाया आरोप

विधायक ने सोमवार को एक पत्र जारी कर बताया कि पुलिस ने उनके जीवनभय से जुड़ी इंटेलिजेंस एवं आतंकवाद निरोधक दस्ता की गोपनीय रिपोर्ट की गोपनीयता भंग की है। उनके विरोधियों से मिलकर उनकी हत्या कराने के उद्देश्य से सुरक्षा संबंधित सभी जानकारी इंटरनेट मीडिया पर सार्वजनिक की।

पुलिस आयुक्त द्वारा एक गंभीर विषय पर राजनीति करते हुए अनुशासनहीनता की हद को पार कर यह कहा गया कि विधायकों की सुरक्षा सीएम के कहने पर हटाई गई है, जो स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि उनको सुरक्षा की आवश्यकता न तो पहले थी और न ही अब है।

महादेव और लोनी की जनता का आशीर्वाद ही उनका सुरक्षा कवच है। उनकी नाराजगी आचार संहिता लागू होने की आड़ में भाजपा को हराने के लिए सपा एजेंट के रूप में कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं व आम जनता के थोक में किए गए मुचलके, उनका उत्पीड़न, पुलिस की अर्कमण्यता के कारण बेलगाम अपराध, चौकी-थानों को लूट का अड्डा बनाने और जनप्रतिनिधियों को प्रचार से रोकने के लिए उनकी हटाई गई सुरक्षा को लेकर है।

जिस पर अपर मुख्य सचिव गृह एवं विधानसभा अध्यक्ष से पत्राचार किया। लेकिन राजनीति में दक्ष पुलिस आयुक्त द्वारा मुख्य विषयों पर जवाब देने के बजाय यह प्रचारित कराया गया कि सुरक्षा हटने के कारण वह पत्र लिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि भविष्य में राजनीति में उतरने से पहले जनपद में राजनीति का अभ्यास कर रहे पुलिस आयुक्त विषय को विषयांतर न करते हुए मूल सभी सवालों पर बात करेंगे जो कि अभी तक अनुत्तरित हैं।

मुझे सुरक्षा कमिश्नर द्वारा दी गई है लेकिन घर पर जनता दर्शन के दौरान चारों तरफ कोई पुलिसकर्मी नहीं है। पुलिसकर्मी आते हैं और फोटो खींचकर चले जाते हैं। उनको निर्देश दिए गए हैं कि विधायक को मरने दो, जहां मरना है। यह शर्मनाक स्थिति है, सच्चाई यह है। -नंदकिशोर गुर्जर, विधायक, लोनी विधानसभा क्षेत्र।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.