संवाद सहयोगी, मोदीनगर (गाजियाबाद): क्षेत्र में इन दिनों बच्चियां सुरक्षित नहीं है। आए दिन कहीं ना कहीं से बच्चियां के साथ जघन्य अपराध की सूचनाएं मिल रही है। पुलिस-प्रशासन बच्चियों को सुरक्षित माहौल दिलाने में असफल साबित हो रहा है। एक महीने में ही तीन बच्चियों के साथ दुष्कर्म की कोशिश हो चुकी है। शनिवार को भी दुष्कर्म की कोशिश के विरोध में बच्ची की हत्या कर दी गई। सिस्टम बाल अपराध रोकने को लेकर कितना गंभीर है, इसका अंदाजा इस महीने हुई घटनाओं से लग रहा है।

बता दें चार महीने पहले ही गांव रोरी में बच्ची से दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। शव भी खेत में फेंक दिया था। घटना की गूंज लखनऊ तक गई थी। इसके बावजूद क्षेत्र में बाल अपराध रोकने की दिशा में पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कोई ठोस कदम उठाने की जरूरत नहीं समझी गई। बच्चियां लगातार हैवानियत की शिकार हो रही हैं। हालांकि, सभी मामलों में पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपितों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपित जेल में सजा काट रहे हैं, लेकिन घटनाओं के बढ़ने में कहीं ना कहीं सिस्टम का फेलियर ही सामने आ रहा है।

मुख्य घटनाएं

1. 21 जनवरी की सुबह एक गांव में बच्ची का अपहरण कर खेत में ले जाकर दुष्कर्म की कोशिश की गई। शोर मचाते हुए जब बच्ची वहां से भागी तो आरोपित ने बच्ची की ईंट से हत्या कर दी। पहचान मिटाने के लिए बच्ची के चेहरे को भी ईंट से कूच दिया। आरोपित भी नाबालिग हैं।

2. 15 जनवरी को पड़ोस की दुकान से पापकार्न खरीदने गई 13 वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म की कोशिश की गई। आरोपित ने बच्ची के नाजुक अंगों के साथ भी छेड़खानी की। विरोध पर बच्ची के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। धमकी दी कि यदि इस बारे में किसी से बताया तो पूरे परिवार को जान से मार देगा।

3. 31 दिसंबर की रात गोविंदपुरी स्थित एक कालोनी में दुकान से सामान लेने गई 11 वर्षीय बच्ची के साथ दुकानदार ने दुष्कर्म की कोशिश की। वह टाफी देने के बहाने उसे कमरे में ले गया था। शोर सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और बच्ची को आरोपित के चंगुल से बचाया।

4. 30 दिसंबर की रात निवाड़ी थाना क्षेत्र के एक गांव में टाफी दिलाने के बहाने एक आरोपित बच्ची को खेत में ले गया। वहां उससे दुष्कर्म की कोशिश की गई। हालांकि, जब बच्ची को खोजते हुए गांव के लोग खेत पहुंचे तो आरोपित पकड़ा गया। बच्ची की उम्र महज 10 साल है।

5. अगस्त 2022 में एक गांव से दो बच्चियों का अपहरण किया गया। इसमें एक बच्ची चुगंल से भाग आई। जबकि दूसरी बच्ची से दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई। आरोपित शव को खेत में फेंककर फरार हो गया। इस घटना की गूंज शासन स्तर तक गई। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर कुछ ही दिन में चार्जशीट भी दाखिल की थी।

Edited By: Nirmal Pareek

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट