Move to Jagran APP

Ghaziabad Crime: दिल्ली-NCR में ऑटो चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 6 गिरफ्तार; अन्य की तलाश में जुटी पुलिस

दिल्ली-एनसीआर में ऑटो की चोरी करने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गिरोह के 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही उनके कब्जे से चोरी के 6 ऑटो भी बरामद किए गए हैं।

By Ashutosh GuptaEdited By: Shyamji TiwariPublished: Tue, 07 Feb 2023 09:04 PM (IST)Updated: Tue, 07 Feb 2023 09:04 PM (IST)
दिल्ली-NCR में ऑटो चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। जिले की क्राइम ब्रांच ने विजयनगर क्षेत्र से दिल्ली-एनसीआर में ऑटो चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए छह आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपितों के पास से चोरी के छह ऑटो बरामद किए हैं। आरोपित कंडम हो चुके ऑटो के दस्तावेज के आधार पर चोरी के ऑटो का चेसिस, इंजन व रजिस्ट्रेशन नंबर बदलकर ऑटो चला रहे थे और बेचते थे।

loksabha election banner

अन्य की तलाश कर रही पुलिस

पूछताछ के आधार पर पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों को भी पकड़ने का प्रयास कर रही है। बरामद ऑटो की फारेंसिक टीम से जांच कराकर मालिकों की जानकारी की जाएगी। एडीसीपी क्राइम ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों में विजयनगर के अमित कुमार व पुनीत, गौतमबुद्धनगर बिसरख का अर्जुन, टीलामोड़ का सुरेश, अर्थला का आमिर और इस्लामनगर का सलीम है।

अमित गिरोह का सरगना है और उसके खिलाफ गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर के थानों में लूट व चोरी छह मामले दर्ज हैं। अन्य आरोपितों का भी आपराधिक इतिहास है। उन्होंने बताया कि क्राइम ब्रांच के स्वाट टीम प्रभारी अब्दुर रहमान सिद्दीकी को विजयनगर थानाक्षेत्र में चोरी के ऑटो चलाए जाने की सूचना मिली थी। इसके आधार पर टीम ने आरोपितों को गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें- Ghaziabad: बीच रोड पर जाम छलकाने वाले 5 गिरफ्तार, फायरिंग कर बनाई थी रील; फॉर्च्यूनर और दो बंदूक भी हुईं जब्त

काटे जा जुके ऑटो के दस्तावेज खरीद लेते

एडीसीपी ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपितों ने पूछताछ में बताया कि वह कबाड़ में काटे जा चुके ऑटो के दस्तावेज खरीद लेते थे। इसके अलावा पुराने ऑटो को चुराकर उन्हें कबाड़ में कटवा देते थे। इनके दस्तावेज का चोरी के ऑटो में इस्तेमाल करते थे। पुलिस का कहना है कि दस्तावेजों के आधार पर आरोपित चोरी के नए ऑटो के इंजन व चेसिस नंबर बदलवा कर या तो उन्हें महंगे दामों में बेच दिया करते थे या फिर उन्हें चलाते थे।

पूछताछ में आरोपितों ने डासना-विजयनगर रूट पर इस तरह के अन्य ऑटो चलने की बात कही है। जिसके आधार पर पुलिस गिरोह से जुड़े अन्य आरोपितों को भी पकडऩे का प्रयास कर रही है। पुलिस का कहना है कि बरामद ऑटो की फारेंसिक टीम से जांच कराकर उनके मूल नंबर को जांचा जाएगा। 

यह भी पढ़ें- गाजियाबाद से NDRF की आठवीं बटालियन तुर्किये रवाना, पहली बार 5 महिला रेस्क्यूअर्स भी आपरेशन में शामिल


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.