इंदिरापुरम (गाजियाबाद), जागरण संवाददाता। शिप्रा कृष्णा विस्टा सोसायटी में कुत्ते को जहर देकर मारने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में सोसायटी के अज्ञात लोगों के खिलाफ इंदिरापुरम थाना में रिपोर्ट दर्ज हुई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। शिप्रा कृष्णा विस्टा सोसायटी में रहने वाली पशु कल्याण अशासकीय संस्था (पीएफए) की सदस्य मेधावी मिश्र ने आरोप लगाया है कि सोसायटी में मोमो नामक बेसहारा कुत्ते को दो फरवरी की शाम को जहर देकर मार दिया गया। तीन फरवरी की सुबह उसके शव को कूड़े में छिपाकर बाहर फेंक दिया गया। आठ फरवरी को सोसायटी के सुरक्षाकर्मियों व सफाईकर्मियों से बातचीत के दौरान उन्हें इसकी जानकारी हुई। उनका आरोप है कि घटना को अंजाम देने के लिए सोसायटी के सीसीटीवी को बंद कर दिया गया था। उन्होंने रविवार को इंदिरापुरम थाना में इसकी शिकायत की। उनकी शिकायत पर मंगलवार को सोसायटी के अज्ञात लोगों के नाम रिपोर्ट दर्ज हुई है। वहीं, थाना प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र सिंह का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

नहीं थम रहा आतंक

इधर, ट्रांस हिंडन में आवारा कुत्‍तों का आंतक थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को वसुंधरा सेक्टर एक एलआइजी में कुत्ते ने एक कंपनीकर्मी के पैर में काट लिया। कंपनीकर्मी जख्मी है, उसने मामले की शिकायत नगर निगम के अधिकारियों से की है। वसुंधरा में एक माह के अंदर पांच लोगों को आवारा कुत्‍तों ने काटा है।

वसुंधरा सेक्टर एक एलआइजी आरडब्ल्यूए अध्यक्ष कैलाश चंद्र शर्मा ने बताया कि सोसायटी में चार-पांच आवारा कुत्ते घूमते हैं। जिनकी वजह से बच्चों को घर से अकेले बाहर निकलने में भी डर लगता है। सोसायटी में एक निजी टेलीकॉम कंपनी द्वारा भूमिगत लाइन डालने का काम किया जा रहा है। मंगलवार को काम करने के दौरान ही एक कर्मचारी नीरज पर आवारा कुत्ते ने हमला कर दिया। कुत्ते ने नीरज के पैर में काट लिया। उन्होंने शोर मचाया तो आसपास के लोग पहुंचे। नीरज को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। आरडब्ल्यूए अध्यक्ष ने बताया कि कई बार इस संबंध में नगर निगम के अधिकारियों से शिकायत की गई है। इससे पहले सोमवार को सोसायटी में रहने वाली गर्भवती को भी कुत्ते ने काट लिया था।

31 मार्च तक अस्सी हजार डॉगी का पंजीकरण कराना चुनौती

इधर, पालतू कुत्तों के पंजीकरण कराने में लोग दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। दस दिन में महज 38 लोगों ने ही अपने कुत्तों का रजिस्ट्रेशन कराया है। हालांकि आवेदन 235 लोगों आए हैं। अभी इन आवेदनों की जांच चल रही है। 31 मार्च तक 80 हजार से ज्यादा पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन निगम के लिए चुनौती है। नगर निगम के पशु चिकित्सा एवं कल्याण अधिकारी डॉ. अनुज कुमार सिंह ने बताया कि अभी तक 38 कुत्तों का पंजीकरण प्रमाण पत्र जारी किया गया है। लोग गूगल प्ले स्टोर से एप इंस्टाल कर पालतू कुत्तों का पंजीकरण करा सकते हैं।

पांच लोगों पर कुत्तों ने झपट्टा मारा

शिप्रा कृष्णा विस्टा निवासी प्रिया बिष्ट का आरोप है कि मंगलवार को भी करीब पांच लोगों पर कुत्तों ने झपट्टा मारा। सतर्कता की वजह से लोग बच गए। वहीं, सोसायटी में कुत्तों की समस्या पर लोगों ने बैठक की और कुत्तों को सोसायटी से बाहर निकालने की मांग की। जल्द ही लोग नगर आयुक्त से मुलाकात करेंगे। सोसायटी के एओए अध्यक्ष अरुण राय का कहना है कि सोसायटी में पहले कम कुत्ते थे। कुछ लोग बाहर से कुत्तों को लाकर खाना खिलाने लगे, इससे सोसायटी में कुत्तों की संख्या बढ़ गई है।

अधिकारी ने कहा

आवारा कुत्‍तों को समय-समय पर रैबिज के इंजेक्शन लगाए जाते हैं। जल्द ही दोबारा से आवारा कुत्‍तों को तलाश कर उनको इंजेक्शन लगवाए जाएंगे।

सुनील राय, जोनल प्रभारी, नगर निगम वसुंधरा जोन

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस