गाजियाबाद [आशुतोष अग्निहोत्री]। गाजियाबाद पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पत्रकार वार्ता के दौरान सोमवार को विपक्ष को जमकर निशाने पर लिया। सीएम योगी के निशाने पर अखिलेश यादव रहे, हालांकि उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि हम सब जान रहे हैं कि पिछले पांच साल में हमारी सरकार ने जिन पेशेवर अपराधियों के मन मे भय पैदा किया था सपा उन्हें गले लगा रही। कैराना मुजफरनगर और लोनी में सपा ने गुंडों को प्रत्याशी बनाकर अपना चेहरा दिखाया है।  सपा ने जनता को बताया कि जनता को लूटने वालों को गले लगाया है। उन्होंने कहा कि गंदी आदत जल्द छूट तो नहीं सकती है, लेकिन 10 मार्च के बाद अपराधियों को फिर जेल में डालेंगे।

इससे पहले पत्रकार वार्ता में सीएम ने कहा कि कोरोना सबसे बड़ी महामारी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पौने दो वर्षों से बेहतरीन कोरोना प्रबंधन का प्रयास चल रहा है, जिससे अच्छे परिणाम देखने को मिले।  भारत के कोरोना प्रबंधन को दुनिया ने स्वीकार किया है और देश के कोरोना प्रबंधन की हर जगह चर्चा हुई।

पत्रकार वार्ता के दौरान सीएम योगी ने कहा कि तीसरी लहर के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में पिछले अनुभव कोविड प्रबंधन में मदद कर रहे हैं। फिलहाल प्रदेश में एक लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं, जबकि गाजियाबाद में दस हजार केस हैं। वहीं, अस्पतालों में मरीज एक प्रतिशत से भी कम हैं। बावजूद इसके तीसरी लहर कम खतरनाक है, लेकिन बीमारी में सतर्कता जरूरी है। इस बीमारी में बुजुर्गों और बच्चों महिलाओं को बचाना जरूरी है। इसके लिए प्रदेश में 5500 स्थानों पर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। सीएम योगी ने लोगों से अपील की है कि भीड़ में जाने पर मास्क जरूर पहनें।

सीएम ने यह भी कहा कि हम प्रधानमंत्री के आभारी हैं कि उन्होंने देश को दो वैक्सीन दी।  भारत के अंदर मार्च 2020 में कोरोना के मामले आए और इसी के साथ टीकाकरण का अभियान शुरू हुआ। उत्तर प्रदेश ने 23 करोड़ 15 लाख वैक्सीन की डोज दी और गाजियाबाद में 48 लाख डोज लोगों को दी जा चुकी है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गाजियाबाद में 98 प्रतिशत लोगों को पहली और 69 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज लग चुकी है। इसके साथ ही जिले में 15 से 17 वर्ष के किशोरों में वैक्सीन के प्रति जागरूकता आई है और जिले में एक लाख से अधिक युवाओं ने पहली डोज ली है। इसके अलावा सतर्कता डोज 15611 लोगों ने ली है, जबकि प्रदेश में 4 लाख नौ हजार लोगों को सतर्कता डोज लगी है।

विपक्षों दलों पर हमला करते हुए कहा कि वैक्सीन के ख़िलाफ़ खूब दुष्प्रचार किया गया। यह मानवता के खिलाफ था।  अब दुष्प्रचार करने वाले आज चारों खाने चित हैं। सीएम योगी ने लोगों से अपील की है कि जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली वह जरूर लें।

अप्रैल-मई के बीच आई दूसरी लहर को लेकर सीएम योगी ने कहा कि इस दौरान आक्सीजन का संकट देखने को मिला, लेकिन आज आक्सीजन के मामले में देश और प्रदेश आत्मनिर्भर है।  

इससे पहले गाजियाबाद पहुंचे सीएम योगी ने पुराना बस अड्डा स्थित कोविड लेवल - तीन के संतोष अस्पताल का निरीक्षण शुरू किया। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव- 2022 के पहले चरण में गाजियाबाद समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई शहरों में 10 फरवरी को मतदान होने हैं, ऐसे में मुख्यमंत्री का दौरा काफी अहम माना जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गाजियाबाद में आने को लेकर पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पहले से ही अलर्ट पर हैं। सुरक्षा व्यवस्था के कड़े प्रबंध किए गए हैं। अस्पतालों में व्यवस्था दुरुस्त की गई है।   

गाजियाबाद जिले में कोरोना की रफ्तार पिछली लहर के मुकाबले काफी तेज है। हालांकि दूसरी लहर के वक्त जैसी अफरातफरी का माहौल नहीं है। संक्रमण की बात करें तो पिछले 24 घंटों में अभी तक सर्वाधिक 2103 नए कोविड केस सामने आए हैं। इसमें से करीब 20 मरीजों की हालत गंभीर है जिन्हें अस्पताल में भर्ती भी करा दिया गया है। हालांकि एक शख्स की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों में संक्रमण दर 18.31 प्रतिशत तक पहुंच गई है। पिछले 16 दिन में 14,986 नए कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। रविवार को संक्रमण के नए मामलों में अभी तक के सबसे अधिक 2103 कोरोना मरीजों की पुष्टि होने के साथ ही 1698 ने कोरोना को मात दी है।

Edited By: Prateek Kumar