गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। लोनी के बुजुर्ग की पिटाई व दाढ़ी काटने का वायरल वीडियो ट्वीट कर कांग्रेस नेता राहुल गांधी और एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी फंस गए हैं। लोनी विधानसभा से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर की तरफ से कांग्रेस नेता राहुल गांधी, असदुद्दीन ओवैसी और अभिनेत्री स्वरा भास्कर व अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए लोनी बॉर्डर पुलिस थाने में तहरीर दी है। भाजपा विधायक ने वायरल वीडियो ट्वीट कर सामाजिक सौहार्द खराब करने की कोशिश का आरोप लगाया है। 

भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर की तहरीर में कहा गया है कि राहुल गांधी, असदुद्दीन ओवैसी और अभिनेत्री स्वरा भास्कर व अन्य ने अपने वेरिफाइड ट्विटर से एक बुजुर्ग की पिटाई व दाढ़ी काटने का वीडियो शेयर कर इस घटना को सांप्रदायिक रुप देने की कोशिश की है। घटना को हिंदू-मुस्लिम से जोड़कर माहौल खराब करने की कोशिश की। जबकि आरोपितों में दो मुस्लिम युवक भी शामिल हैं। वीडियो को सुनियोजित षडयंत्र और साजिश के तहत शेयर किया गया है ताकि दंगा फैले। नंदकिशोर गुर्जर ने थानाध्यक्ष से इन सभी के खिलाफ रासुका के तहत केस दर्ज करने की मांग की है।

भाजपा विधायक ने आरोप लगाया है कि बुजुर्ग की पिटाई का वीडियो ट्टीट कर लोनी और देश के अन्य हिस्सों में हिंदू-मुस्लिमों के बीच नफरत फैला कर माहौल खराब करने की कोशिश की गई है। 

क्या है पूरा मामला

बता दें कि बुलंदशहर निवासी बुजुर्ग की पांच जून को कुछ युवकों ने पिटाई की थी। पिटाई के दौरान उनकी दाढ़ी काट दी गई थी। सात जून को पीड़ित ने मामले में लोनी बार्डर थाने में अज्ञात युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। आरोपितों की पहचान प्रवेश, आदिल और इंतजार के रुप में की गई है। घटना का वीडियो 14 जून को इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल करने वाले लोगों ने आरोप लगाया कि बुजुर्ग से धार्मिक नारे लगवाने का प्रयास किया गया। न लगाने पर उनकी पिटाई की गई। हालांकि पुलिस ने मामले को निराधार बताया था।

विवाद के पीछे सामने आ रहा पांच लाख रुपये का लेनदेन

आरोपित प्रवेश गुर्जर के स्वजन ने बुजुर्ग पर पांच लाख रुपये हड़पने के लिए वीडियो वायरल करने का आरोप लगाया है। स्वजन के अनुसार आरोपित प्रवेश, आदिल और इंतजार दोस्त हैं। आदिल और इंतजार ने डेढ़ साल पहले प्रवेश को बुजुर्ग से मिलवाया था। प्रवेश के घर में कलह रहती थी। जिसे दूर करने के लिए बुजुर्ग ने उसे ताबीज दिए और कहा कि सभी लोग पहन लें। आरोप है कि ताबीज के बदले कई बार में ये रुपये लिए गए। ताबीज पहनने के बाद भी हालात सही नहीं हुए, इस बीच प्रवेश की पत्नी का गर्भपात हो गया। प्रवेश ने दोस्तों को बताया और इसके लिए बुजुर्ग को जिम्मेदार ठहराया। नाराज प्रवेश ने दोस्तों के साथ मिलकर बुजुर्ग के साथ मारपीट की और उसका वीडियो बनाया।

इसे भी पढ़ेंः  लोनी वीडियो वायरल मामलाः मुस्लिम हैं बुजुर्ग से मारपीट के चार आरोपी, फिर कैसे बिगड़ गया सांप्रदायिक माहौल?

 

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में वीडियो वायरल कर सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश, ट्विटर समेत 9 पर एफआइआर 

Edited By: Mangal Yadav